जेमी स्नाइडर को श्रद्धांजलि: केवल माँ ही अपने बच्चे के लिए यह कर सकती है!

jamie snider

 

आप ऐसी महिला का कैसे वर्णन करेंगे जिसने दो बार कैंसर से लड़ाई लड़ी हो, जुड़वा को जन्म दिया हो, और फिर अपने बच्चों को गोद में लेकर हस्ते हुए विदाई ली हो? माँ के अलावा यह कोई नहीं कर सकता है!

एक ऐसी महिला के बारे में सोचिए जिसने अपने बच्चों को नौ महीनों तक अपनी कोख में रखा, और जन्म देते ही उसे उनके साथ बिताने के लिए ज़्यादा समय नहीं मिला।

30 साल कि उम्र में जेमी स्नाइडर कि मृत्यु हो गई, अपने अंतिम दिनों में भी उनके चेहरे से हंसी नहीं गई। शायद वो अपनी दो जुड़वा बच्चियों को सीखा रही हों कि ताकत क्या होती है या शायद वो अपनी मुस्कान को उनके साथ साझा करना चाहती हो। हमें कभी पता नहीं चलेगा कि वो अपने अंतिम समय में क्या सोच रही थी पर उसकी मुस्कान हमारे साथ हमेशा बनी रहेगी।

जेमी एक साहसिक महिला थी। उन्होने एक बार कैंसर से लड़ाई जीत ली थी, और इसी वजह से वो अपना अंडाशय खो चुकी थी। लेकिन यह सब उन्हे गर्भ धारण करने से नहीं रोक सका। उनके प्रेगनेंट होने कि खबर उनके लिए दोगनी खुशी लाई, क्योंकि उनके पेट में जुड़वा बच्चे थे। दुर्भाग्य से उनकी यह खुशी ज़्यादा दिनों तक नहीं चली, क्योंकि उनका कैंसर वापिस आ गया था। हालांकि इससे जेमी पर ज़्यादा दिनों तक फर्क नहीं पड़ा। उन्होने कीमोथेरेपी जैसी बड़ी थेरेपी से भी उपचार किया, और फिर कैंसर को हराया।

अपने सी-सेक्शन से कुछ दिनों पहले बहादुर जेमी ने फेसबुक पर अपनी मुस्कान के साथ लिखा:

“कल बहुत अच्छा दिन होगा। भगवान हमेशा मेरे साथ था। आपकी दुआएं मेरे लिए काम कर गई हैं। मुझे शुभकामनाएँ दीजिए। मैं कल 7 बजे सी-सेक्शन करवा रही हूँ और फिर गर्भाशय को निकलवाने की सर्जरी। मैं ठीक हो जाऊँगी। इस मुश्किल समय में भी मुझे इतना पॉज़िटिव रखने के लिए मैं भगवान का शुक्रिया अदा करती हूँ।‘’ और यह उनका आखरी पोस्ट था।

जेमी कि सर्जरी सफल रही, पर बाद में कुछ दुखद घटना हुई। जेमी के दिल ने काम करना बंद कर दिया, और उनकी मृत्यु हुई। लेकिन अपनी लड़ने कि आदत कि वजह से जन्म देने तक जेमी कि जान बची रही, और मौत से पहले उन्होने अपने बच्चों के साथ अपनी वही मुस्कान साझा करी।

उनके दोनों बच्चे स्वस्थ पैदा हुए और हम उम्मीद करते हैं कि उनके बच्चे भी जेमी कि तरह शक्तिशाली हों, और उस लड़ने कि आदत को सीखें, जो जेमी ने उनके लिए छोड़कर गई थी। जेमी अपनी फाइटिंग स्पिरिट के साथ अपनी फेमस स्माइल के लिए भी याद कि जाएंगी एक ऐसी मुस्कान जो उनकी मौत के समय भी उनके साथ थी।