छींक से जुड़े ये 5 फ़ैक्ट आप शायद ही जानते होंगे

छींक कभी भी आ सकती है, ये काफी शक्तिशाली होती है, और इसे आपको कंट्रोल नहीं कर सकते हैं, इससे आपकी नाक और गला साफ होता है। ये एक प्रकृतिक प्रक्रिया है और अगर इसे सही तरीके से हैंडल नहीं किया गया तो ये आपके लिए दिक्कत बन सकती है।

1.छींक की गति 100 मील प्रति घंटा हो सकती है

छींक आपकी तरफ इस गति से आ सकती है, इसलिए आपको ऐसा होने पर जगह से अलग हो जाना चाहिए।

2.लगातार छींक आना

नाक और गला जब ठीक से साफ नहीं हो पाता है तो आपको बार-बार छींक आती है। और बार-बार सफाई करने के लिए हम बार छींक लेते हैं, इससे आपको लगातार छींक आती है।

3.आप छींक की इकच्छा को रोक सकते हैं

क्या छींक आने वाली है? इन कुछ तरीकों से आप इसे रोक सकते हैं, अपने ऊपर के होंठ को दबाएँ, और फिर लंबी सांस लें।

4.ढंग से छींके

अगर आप दबाके छींक रहे हैं तो इससे आपकी खून की कोशिका टूट सकती है, वो भी आँख में, और इससे आपके कान के पर्दे पर भी फर्क पड़ता है।

5.आपकी आँख अपने आप बंद हो जाती हैं

छींक आने से पहले आपका दिमाग आपकी आँख को अपने आप बंद कर देता है। इसपर किसी का भी कंट्रोल नहीं है।