प्रेगनेंसी और बच्चे से जड़ी 7 ऐसी बातें जो आपको हैरान कर देंगी

1.बच्चे का जन्म भ्रूण थैली के अंदर हो भी हो सकता है

pregnancy and baby facts

हालांकि ऐसा 80,000 केस में एक बार होता है। इसे कौल यानी गर्भझिल्ली के साथ पैदा होना कहते हैं। ऐसा कम ही बार होता है और इससे कोई नुकसान भी नहीं होता है, डिलिवरी के समय डॉक्टर बच्चे से इस झिल्ली को निकाल भी सकते हैं।

2. प्राचीन मिश्र में महिलाएं गर्भ रोकने के लिए मगरमच्छ के गोबर का इस्तेमाल करती थी

pregnancy and baby facts

यह मिश्र की सबसे पुरानी गर्भनिरोधन तकनीकों में एक थी। इसमें मगरमच्छ के गोबर, शहद और सोडियम कार्बोनेट के मिश्रण को एक घुलनशील पदार्थ बनाकर योनी में डाला जाता था, जिससे शुक्राणु या तो खत्म हो जाते थे या एक जगह रुक जाते थे। .

3. दिमागी तौर पर मृत घोषित किए जाने पर भी बच्चा पैदा हो सकता है

pregnancy and baby facts

22 हफ्तों की गर्भवती कार्ला पैरेज़ को काफी दर्दनाक अंदरूनी खून का रिसाव था और उनके बच्चे को दिमागी तौर पर मृत घोषित कर दिया गया था, लेकिन डॉक्टर फिर भी उनके बच्चे की जान बचा सके। वो अपने बच्चे को 54 दिनों बाद 30 हफ्तों के गर्भकाल के बाद जन्म दे सकी।

4.क्या कभी आपको बच्चे को चबाने का मन किया है? चिंता मत कीजिए इसके पीछे भी एक वैज्ञानिक कारण है

pregnancy and baby facts

इस घटना को आम तौर पर ‘क्यूट अग्रेशन’ यानी बच्चे का अत्यधिक प्यारा होना माना जाता है और इसे इंग्लिश में ‘डायमोर्फिक एक्स्प्रेशन’ कहते हैं। येल यूनिवर्सिटी में मनोविज्ञानिक की गई रिसर्च के अनुसार यह आपके इमोशन को कंट्रोल करने में मदद कर सकता है।

जब भी आपका किसी छोटे बच्चे को काटने का मन करता है तो उसके पीछे बच्चे के अत्यधिक क्यूट होना एक वजह है, और उस बच्चे की क्यूटनेस को संभालने के लिए आपका दिमाग उसे काटने के लिए निर्देश देता है।

5. गर्भनिरोधन उपकरण के इस्तेमाल के बाद भी आप गर्भवती हो सकती हैं

pregnancy and baby facts

यह काफी कम बार होता है, लेकिन गर्भनिरोधक उपकरणों का रिज़ल्ट 100 परसेंट नहीं है। स्टडि के अनुसार यह 0.2 परसेंट फेल भी हुए है। यह कितनी बार होता है? ACOG यानी अमेरिकन काँग्रेस ऑफ ओबस्टेट्र्सिशियन्स एंड गायनकोलिजिस्ट को एक रिसर्च में पता चला की 2011 में ऐसे 36 केस सामने आए थे।

6.एपिड्यूरल के बिना भी 14 पाउंड के बच्चे को जन्म दिया जा सकता है

pregnancy and baby facts

नताशीया कोरिगन नाम की एक ऑस्ट्रेलियन महिला के साथ ऐसा हो चुका है, जहां उनके बच्चे ब्रायन जूनियर का वज़न जन्म के समय 13.5 पाउंड था!

7. पहली बार माँ का दूध गुलाबी या ऑरेंज भी हो सकता है

pregnancy and baby facts

इसे इंग्लिश में ‘रस्टी पाइप सिंड्रोम’ कहते हैं और ऐसा स्तन में हुए अधिक खून के प्रैशर की वजह से होता है और इसी वजह से खून स्तन के दूध के साथ मिल जाता है। चिंता मत कीजिए यह आपके बच्चे के लिए बिल्कुल सुरक्षित है और कुछ हफ्तों में यह अपने आप साफ हो जाता है।