हर माँ आर्मी कमांडो द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली इस तरकीब को सीखना चाहिए

sleep deprivation

डॉली कुछ ही दिनों में माँ बनने वाली है। उनको कुछ ही हफ्तों में बच्चा होने वाला है और सब लोग उन्हे एक ही सलाह बार-बार दे रहे हैं। ‘जब तक सो सकती हो सो लो’! उनकी कुछ दोस्त जिन्होने बच्चे पैदा किए हैं उन्हे बता रही हैं की ये अंतिम समय कितना मुश्किल हो सकता है।

ये लोग काफी दिक्कत वाले हो सकते हैं, लेकिन क्या इनकी बातों में पॉइंट है? सबको लगता है की वो कोई बड़ा राज़ बता रहे हैं। ऐसा कोई सीक्रेट जो सैनिक नई भर्ती के साथ शेयर करते हैं। आप पर हमेशा नज़र रखी जाएगी। आपको ड्यूटी के लिए किसी भी समय बुलाया जा सकता है।

लालन-पालन, आर्मी ट्रेनिंग, और नींद का नुकसान

माँ बनने के बाद कम नींद से कैसे निपटा जाए आपका पहला साल इसी तरह से बीतेगा, इस दुनिया में अगर कोई है जो बिना नींद के काम करने को समझता है तो वो है आर्मी कमांडो। वो काफी बुरी परिस्थिति में तनाव के साथ काफी देर तक बिना काम की सटीकता खोए हर दिन के काम करते हैं। नींद में कमी होना माँ बनने का एक अहम हिस्सा है।

एक औसत कमांडो हर दिन 4 घंटे की नींद लेता है, जितना एक नई माँ नींद लेती है। आइए लड़ाई में इस्तेमाल की गई तकनीक को देखते हैं जो किसी भी माँ के काम आ सकती है:

हिम्मत ना हारें

भले ही युद्ध के मैदान पर लड़ना हो या बच्चे का डायपर 3 बजे बदलना हो, इसको खुद पर हावी मत होने दें। फोकस की कमी और बुद्धि खोने से आपका पतन हो सकता है। खुद पर कभी भी शक ना करें। आपको व्याकुलता होगी, पर याद रखें खुद पर किया शक किसी भी सपने को असफलता से ज़्यादा नुकसान पहुंचता है।

टीम वर्क ही कुंजी है

संवाद की कमी से लोग युद्ध के क्षेत्र में मर सकते हैं। सुनिश्चित करें की आप और आपके पति हमेशा एक ही सोच रखते हों। जब तक आप खुदको याद दिलाती रहेंगी की आपको कम नींद से ज़्यादा फर्क नहीं पड़ता, तब तक आपकी ज़िंदगी आसान रहेगी।

गुस्सा भी आएगा ही लेकिन याद रखें आप जो भी कर रही हैं उसके पीछे एक नन्ही सी जान है।

अपनी लिमिट को जानें

नींद की कमी से आपकी ज़िंदगी मुश्किल होने वाली है- इसकी वजह से आपका मूड बार-बार बदलेगा और काम भी अच्छे से नहीं होगा। इस बात को पहचानें की आप सही में अपने रवैये को समझते हैं- और जैसे कोच कहते हैं की अपने आप को पहचानो। अपने आप को ज़्यादा ना खींचें, हीरो बनने की ज़्यादा कोशिश ना करें और खयाल रखें की आप उन काम को ना करें जो आपके लिए ज़्यादा ज़रूरी ना हो।

खुदकों पहले रखें

हमें पता है की आप हर चीज़ में बच्चे का पहले खयाल रखना चाहेंगी, लेकिन याद रखें ये हवाईजहाज़ एमर्जन्सि की तरह है। सबसे पहले खुदके पास मास्क रखें। अगर आप अच्छी नहीं हैं तो आप अच्छा प्रदर्शन भी नहीं दे सकती हैं, और बच्चे को आप अच्छा नहीं दे पाएँगी। एक्सर्साइज़ करना भी ना भूलें, और जन्म से पूर्व आपने क्लास में जो भी सीखा है उसे दिमाग में रखें, जैसे अच्छा खाएं और खुदको थोड़ा समय दें।

इस सफर का मज़ा लें

इससे अच्छी सलाह कोई और हो ही नहीं सकती। कमांडो मुश्किल परिस्थिति में रहना और हमारे देश की रक्षा करने में आनंद लेते हैं। आपको भी ऐसे ही इस अनुभव का मज़ा लेना चाहिए। काफी फोटो लें, हर दिन का खयाल रखें, और अपने चेहरे पर मुस्कान रखें। ये दिन तो निकल जाएंगे लेकिन आपके बच्चे की ये यादें आपके साथ हमेशा बनी रहेंगी। इस पल को खास बना दें।