होली में आप अपनी मीठाई को इन 5 तरीकों से स्वस्थ बना सकती हैं

Healthy Holi recipes

रंग और पानी की मस्ती के साथ-साथ होली में मीठाई का भी महत्व कुछ ज़्यादा ही है। गुजिया, लड्डू, टिक्की, का नाम सुनते ही किसी के मुंह में भी पानी आ सकता है। इन्हीं सब स्वाद के बीच में कोई भी अपने स्वास्थ को किनारे कर सकता है। लेकिन प्रेगनेंसी में आपको अपने से ज़्यादा अपने बच्चे के लिए स्वस्थ रहने की ज़रूरत है।

हालांकि इस दुनिया में गुजिया और ठंडाई का कोई तोड़ नहीं है, लेकिन फिर भी आप इनकी जगह कुछ अच्छी स्वास्थवर्धक चीज़ें ले सकते हैं।

गुजिया

गुजिया के बिना होली के बारे में सोचना भी मुश्किल है। लेकिन हम इनमें खोया की जगह मेवे डालके इन्हें और पोषक कर सकते हैं।

बेसन के लड्डू

पीले चने से आप अच्छे लड्डू बना सकती हैं। इससे आपको न सिर्फ प्रोटीन मिलेगा बल्कि इसमें घी की ज़रूरत भी कम पड़ती है। आप इसकी जगह मेवे के लड्डू भी बना सकती हैं। ये तरबूज, कद्दू, और खरबूज के बीज से मिलकर बनाया जाता है, इसमें खजूर भी होते हैं।

टिक्की छोले

टिक्की छोले किसे पसंद नहीं हैं? ये ऐसी चीज़ है जिससे मुंह में पानी आ जाता है पर इसमें काफी मात्रा में स्टार्च होता है। आप इसके अंदर थोड़े कम आलू भरकर इसे और पोषक बना सकती हैं और इसकी जगह आप ज़्यादा गाजर, चकुंदर और पनीर डाल सकती हैं। आप इन्हें फिर टिक्की में भर सकती हैं। आप इन्हें गर्म-गर्म, दहि और छोले के साथ दे सकती हैं।

बर्फी

दुनिया में काजू कतली किसे अच्छी नहीं लगती, लेकिन ये आपके लिए सही नहीं है। आप काजू की जगह पिस्ता डाल सकती हैं। आप इसमें बादाम, अंजीर, और खजूर भी डाल सकती हैं। बादाम बर्फी और पिस्ता बर्फी आपके लिए काफी अच्छा विकल्प है।

ठंडाई

ठंडाई, होली पर सबसे प्रचलित पेय-पदार्थ है। लेकिन जब इसे भांग मिलाया जाता है तब ये आपके और आपके बच्चे के लिए काफी खतरनाक हो सकती है। आप इसे बिना भांग और बादाम के साथ पी सकती हैं, और इससे आपको फायदा भी होगा।

तो इन सब तरीकों के साथ आप अपना होली का त्यौहार काफी अच्छे तरीके से मना सकते हैं, और आपको कोई नुकसान भी नहीं होगा।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।