प्रेगनेंसी में खाने के लालच को नियंत्रित करना

Pregnancy cravings

क्या कुछ भी खाने की इच्छा से आपके अंदर पोषण पदार्थ की कमी हो रही है? इन तरीकों से आप सही रास्ते पर रह सकती हैं।

प्रेगनेंसी में कुछ महिलाओं को कुछ खास खाने का मन ही करता है। आपने कई लोगों के मुंह से सुना होगा की उन्हें प्रेगनेंसी में कुछ खास चीज़ खाने का इतना मत होता था की उसके बिना वो रह नहीं सकते थे। शायद आपका भी अपनी प्रेगनेंसी में ऐसी ही चीज़ें खाने का मन करता होगा।

सही बात ये है की किसी को इस बात का नहीं पता की क्यों कई महिलाओं को इस समय कुछ भी खाने का मन करता है। कुछ एक्सपर्ट के अनुसार महिलाओं को इस समय ऐसा खाने का मन कर सकता है जो उन्हें कभी अच्छा नहीं लगा, या जो उन्होने कभी खाया नहीं। या उन्हें कुछ ऐसा नहीं खाने या पीने का मन कर सकता है जो उन्हें हमेशा पसंद रहा हो।

जैसे अगर आपको प्रेगनेंसी से पहले शराब पीना काफी अच्छा लगा हो तो हो सकता है की आपको इस समय ऐसा कुछ भी खाने का मन ना करे, और ये आपके लिए अच्छा है, और सबसे बड़ी बात ये आपके बच्चे के लिए काफी अच्छा है।

कुछ एक्सपर्ट के अनुसार महिलाओं को नमक वाले चिप्स खाने का इसलिए मन करता है क्योंकि इससे उनकी सोडियम की ज़रूरत पूरी होती है। हालांकि हर समय ऐसा नहीं होता। ऐसा भी होता है की कभी-कभी आपको ऐसा खाना खाने का मन करता है, जो आपके लिए ज़्यादा स्वस्थ नहीं होता है।

वैसे आपको जो भी खाने का मन करता है वो आपके दिमाग की वजह से होता है, ऐसा प्रेगनेंसी हार्मोन्स की वजह से होता है। प्रेगनेंसी में हार्मोन्स में बदलाव की वजह से आपको काफी सुँघाई भी देता है, इससे आपका स्वाद भी बदलता है और और इससे आपको कुछ भी खाने का मन करता है।

एक आहार विशेषज्ञ एलिसा जीड कहती हैं की ऐसा हो सकता है की जिन महिलाओं को जी मिचलने, फूले हुए पेट, की वजह कभी कभी कुछ भी खाने का मन नहीं करता, और इसी वजह से उन्हें कुछ अजीब खाने का मन कर सकता है, ऐसा खाना जिसे खाकर उन्हें दिक्कत न हो। कुछ महिलाएं सोचती हैं की प्रेगनेंसी में वो कड़ी मेहनत की वजह से खुदको ट्रीट कर सकती हैं। इन्ही डॉक्टर से कहा की जब वो छोटी थी तब उन्हें जो खाने का मन करता था बाद में उन्हें वो बिलकुल भी खाने का मन नहीं किया। जीड ने बताया की जो चीज़ उन्हें अच्छी लगती थी बाद में प्रेगनेंसी के समय उन्हें नफरत हो गई, और ऐसी चीज़ खाने का मन किया जो उन्हें कभी दिखी भी नहीं।

इस समय आहार विशेषज्ञ को कुछ भी अजीब खाने का मन किया, तो उन्होने इसे कैसे नियंत्रित किया? जीड कहती हैं की उन्होने वो खाना कम लिया जो उन्हें पसंद था, या उन्होने इसी खाने को कम वसा वाले रूप में लिया। जीड ने कहा की जब उन्हें कुछ खाना था मतलब उन्हें वो खाना था, इसलिए मैंने खाने की मात्रा को कंट्रोल किया।

खाने की ये इच्छाएँ बुरी नहीं हैं

ऐसा पाया गया है की इस समय महिलाओं को जो खाना खाने का मन किया वो उनके लिए इतना बुरा भी नहीं था। उदाहरण के लिए जैसे दूध से बने उत्पाद, इनमें अच्छा प्रोटीन होता है, कैल्सियम होता है, और अन्य पोषक तत्व होते हैं, जो महिलाओं को प्रेगनेंसी में लेने ही चाहिए। जब डोलन नाम की महिला प्रेगनेंट थी तो उन्हें क्रैनबेरी का जूस पीने का मन करता था। पोषण से मिलाए गए इस जूस में आपको कैल्सियम, और विटामिन सी अच्छी मात्रा में मिल सकते हैं, इसके अलावा इसमें वो पोषण होते हैं जो प्रेगनेंसी के लिए अच्छे हैं।

खाने की ये इच्छा अलग-अलग प्रेगनेंसी में अलग-अलग होती हैं। कभी कभी तो ये दिन के हिसाब से भी बदल जाती हैं। अगर आपने कोई चीज़ कल खाई थी, और आज आपको वो बुरी लगे तो इस बारे में ज़्यादा चिंता ना करें। कभी कभी तो आपको प्रेगनेंसी में जो खाना बुरा लगेगा वो कभी अच्छा नहीं लगेगा। बच्चा पैदा करने के बाद डोलन को क्रैनबेरी का जूस कभी अच्छा नहीं लगा। उन्होने बताया की वो अब कभी ये जूस नहीं पीने वाली हैं।

कुछ महिलाओं को वो खाने का मन भी करता है जिससे उनका पेट भी नहीं भरने वाला, जैसे या जो खाने की चीज़ ही नहीं है, जैसे बर्फ, मिट्टी, चिकनी मिट्टी, पेपर, यहाँ तक पेंट चिप्स भी, पेंट चिप्स खाने वाली स्थिति को हम पीका कहते हैं, पीका आइरन की कमी के संकेत को दिखा सकती है। माँ बनने वाली महिलाओं को आटा या स्टार्च खाने का भी मन करता है, और ज़्यादा मात्रा में ये लेना भी आपके लिए सही नहीं है। ज़्यादा आटा या स्टार्च लेने से आपकी आंत बंद हो सकती है और इससे आपके बच्चे को पोषण मिलने में दिक्कत हो सकती है। अगर आपको कोई भी ऐसी ही चीज़ खाने का मन करे और आप कंट्रोल नहीं कर पाएँ तो तुरंत अपने डॉक्टर को फोन करें।

इससे फर्क नहीं पड़ता की आपको कोई चीज़ कितना खाने का मन कर रहा है। नीचे दी गई चीजों से आपको बचना है:

कच्चा और कम पका हुआ समंदर का खाना, मीट, और अंडे

बिना पाश्चुरीक्रत दूध, या इससे बनने वाले कोई भी उत्पाद।

बिना पाश्चुरीकरण के बना जूस

कच्ची अंकुरित सब्जी

हर्बल चाय

शराब

ऐसा होना भी संभव है की आपको खाने का मन करे आप वो खाएं और फिर भी आपके बच्चे को सभी पोषण मिलें। हालांकि ज़्यादा कैलरी वाले खाने को लेने से आपका वज़न कुछ ज़्यादा ही बढ़ सकता है। ज़्यादा वज़न से आपको गर्भावस्था की डायब्टीस हो सकती है और आपका ब्लड प्रैशर भी बिगड़ सकता है।

आपको नीचे दिए गए तरीकों से इन खाने की इच्छा को संभालना है:

एक संतुलिन आहार लें जिसमें प्रोटीन हो, ज़्यादा वसा वाले दूध के उत्पाद ना लें, अनाज, सब्जी, और फल, फलियाँ भी लेना आपके लिए सही है। जब आपका आहार संतुलित होता है तब थोड़ा बाहर का खाना या कह सकते हैं कम स्वस्थ खाना आपको ज़्यादा नुकसान नहीं दे सकता, और बच्चे को भी सही पोषण मिलते हैं।

आपको नियमित रूप से खाना लेना है, इससे आपका शुगर कम होने से बचेगा और आपको कुछ भी खाने का मन नहीं करेगा। आपको वैसे दिन में छह बार कम कम खाना लेना है।

आपको इस समय नियमित रूप से एक्सर्साइज़ करनी है, हाँ ऐसा करने से पहले आपको डॉक्टर से सलाह लेनी है।

अगर आपको थोड़ा मीठा खाने का मन करे तो आप इसे ले सकती हैं, पर आपको एक्सर्साइज़ करना नहीं छोड़ना है। जब भी आपको लगे की आपको कुछ खाने का मन कर रहा है तब इस बात का भी ध्यान रखें की क्या आपने उस दिन सभी पोषण तत्व ले लिए हैं।

आपको जब भी कुछ खाने का मन करे तब उसे खाएं, पर कम मात्र में। चिप्स भी खाने का मन कर रहा है? आपको वो चिप्स लेना है जिसमें कम से कम वसा हो।

इस समय कम कैलरी वाला खाना लें। जब आपको आइसक्रीम खाने का मन करे तो कब वसा वाली आइसक्रीम या योगर्ट ले सकती हैं।

जो भी खाने का मन करे उससे पहले आप उन खानों की लिस्ट बना लें जो आपको पोषण देते हैं।

आपको याद रखना है की प्रेगनेंसी में आपको कुछ भी खाने का मन कर सकता है, और ऐसा होना आम भी है, लेकिन आपको कुछ भी नहीं खाना है। कुछ चीज़ें आपको पोषण से दूर रख सकती हैं, जैसे आटा या स्टार्च। दूसरी तरफ आपको मिट्टी या चॉक खाने का मन कर सकता है, अगर आप इसपर कंट्रोल नहीं रख पाए तो आपको अपने डॉक्टर से तुरंत बात करनी है।

याद रखें की इस समय आप वैसे ही दो लोगों के लिए पोषण ले रही हैं, और यदि आपने सही खाना नहीं लिया तो बच्चे को पोषण लेने में दिक्कत होगी। आपको जो खाने का मन करता है वो आप थोड़ा ले सकती हैं, लेकिन इस बात का भी ध्यान रखें की आपने दिन में पूरा पोषण लिया है। कुछ लोगों को लगता है की वो एक्सर्साइज़ करके बस सभी समस्या से दूर रहेंगे, लेकिन ऐसा नहीं है। आपको एक्सर्साइज़ करने के साथ पोषण खाना भी लेना है। फिर भी अगर आपको कोई ऐसी चीज़ खाने का मन कर रहा है जो आपके लिए सही नहीं तो आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए, और उसको नियंत्रित करने के तरीके जानने चाहिए।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।