प्रेगनेंसी में कार्बोहाइड्रेट का महत्व जानें

Carbohydrates intake during pregnancy

जब आप प्रेगनेंट होती हैं तब आपके अंदर कार्बोहाइड्रेट की कमी नहीं होनी चाहिए। इससे आपको ऊर्जा मिलती है, फाइबर मिलता है, और आपको अन्य पोषण तत्व मिलते हैं। आपकी लगभग आधी कैलरी कार्ब(कार्बोहाइड्रेट) से आती है।

कार्बोहाइड्रेट है क्या?

आपके आहार में कार्ब से आपको मुख्य रूप से ऊर्जा मिलती है। फिर शरीर इसको ग्लूकोज़ में विघटित कर देता है, जिसकी वजह से ये आसानी से आपकी गर्भनाल से होकर आपके बच्चे को मिलती है और उसको भी ऊर्जा मिलती है। आप जितना खाती हैं उसका एक तिहाई हिस्सा कार्ब होना चाहिए।

सही कार्बोहाइड्रेट का चुनाव

कार्ब, खासकर शुगर को शरीर द्वारा तेज़ी से विघटित किया जाता है जिससे आपके अंदर ब्लूक ग्लूकोज़ और इंसुलिन की मात्रा बढ़ती है। इनको उच्च GI आहार कहते हैं, GI का मतलब है ग्लाइकेमिन इंडेक्स है, ये एक रेटिंग सिस्टम है जिससे पता चलता है की आपके आहार से आपके शुगर लेवल पर क्या असर पड़ता है।

उच्च GI वाले आहार नीचे हैं:

सफ़ेद ब्रेड

सफ़ेद चावल

केक, बिस्किट या अन्य शुगर वाली चीज़

आलू

कम GI वाले आहार निम्न हैं:

केले

मीठे आलू

ओट

दालें

अनाज वाली ब्रेड, सरियल और पास्ता

कम GI वाले खाने को अधिक GI वाले खाने से ज़्यादा सेहतमंद माना जाता है। यदि आप अपने आहार में स्वस्थ तरीके से स्टार्च ले रही हैं तो आपके अंदर शुगर का लेवल भी सही रहता है। ऐसे आहार से आपको बाद में गर्भावस्था की डायब्टीस होने का खतरा भी कम रहता है, या आपको प्रेगनेंसी की अन्य दिक्कत कम होने का खतरा रहता है।

आपको नीचे दिए गए खाने को अपने आहार में जोड़ना चाहिए, इससे आपको सही मात्रा में कार्ब मिलेगा:

 

चावल

पास्ता

ब्रेड

नूडल्स

ओट्स

सरियल

आलू/मीठे आलू

प्रेगनेंसी एक काफी अहम समय है। इसलिए आपको अपने शरीर का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।