इस विटामिन से आपके बच्चे का डीएनए बनता है

Vitamin B12 during pregnancy

अगर आप प्रेगनेंट हैं या होने के बारे में विचार बना रही हैं तो आपको पता होना चाहिए की फॉलिक एसिड आपके बच्चे के अच्छे विकास के लिए काफी अहम है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन के अनुसार विटामिन बी12 से बच्चे को दिमाग से जुड़ी बीमारी से बचाव होता है।

विटामिन बी12 काफी अहम है, क्योंकि ये शरीर की तंत्रिका और रक्त कोशिका को स्वस्थ रखता है और इससे डीएनए भी बनता है, हर कोशिका में मौजूद आनुवांशिक समान। इसकी कमी से काफी विपरीत असर पड़ सकते हैं, और इससे माँ और बच्चा दोनों प्रभावित हो सकते हैं। इससे बच्चे को दिमाग की विकारता, पागलपन हो सकता है, और माँ को प्रीक्लेम्सिया और गर्भपात की समस्या हो सकती है। इससे भी खतरनाक है इसकी कमी से बच्चे के दिमाग का विकास काफी देर से होता है।

प्रेगनेंसी में बी12

एक बड़े संस्थान के अनुसार हर दिन 2.8 माइक्रोग्राम बी12 लेना चाहिए। कई लोगों को ये फोर्टीफाइड खाने से मिलता है व जानवरों के लीवर, फिश, मीट, अंडे, दूध, और अन्य दूध के उत्पादों से मिलता है।

अगर आप कम मीट या दूध के उत्पाद ले रहे हैं तो पेड़-पौधों से सही प्रकार से विटामिन बी12 लेना थोड़ा मुश्किल है, क्योंकि इनमें बी12 नहीं होता, हाँ यदि ये फोर्टीफाइड हैं तो इनमें बी12 होता है। शाकाहारी लोगों को इसे लेने के लिए अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए, वो आपको सपलीमेंट के बारे में बता सकते हैं।

प्रसव पूर्व विटामिन में बी12 होता है लेकिन हमारा शरीर इसको लेने में समर्थ नहीं हो पाता है, यहाँ तक की हम बस 1-2 प्रतिशत बी12 ही ले पाते हैं। जिन लोगों को आंत की समस्या होती है, या जिन लोगों की सर्जरी हो गई है उन्हें ये विटामिन लेने में दिक्कत होती हा। आपको विटामिन बी की 1000 माइक्रोग्राम खुराक लेनी चाहिए।

इसकी कमी का कैसे पता चलेगा?

विटामिन बी12 की कमी है तो आपको कमजोरी होगी, थकान लगेगी, या सर में दर्द हो सकता है, जीभ में दर्द हो सकता है, या आसानी से खून निकल सकता है। सीन में जलन, सांस लेने में दिक्कत, मसूड़ों से खून निकलना, वज़न कम होना, कब्ज़, दस्त, और पेट की और दिक्कत भी इसके लक्षण हैं। कई केस में पता नहीं लगता की आपमें ये कमी कैसे हुई, लेकिन आमतौर पर इसका पता चल जाता है। आपके डॉक्टर आपकी जांच करके इसका पता लगा सकते हैं।