क्या आपने बच्चे की कोमल त्वचा के बारे में सुना है? इस विटामिन से बच्चे को ऐसी त्वचा मिलती है।

आपको प्रेगनेंसी में विटामिन बी2(रिबोफ्लेविन) की ज़रूरत क्यों पड़ती है?

विटामिन बी2 एक पानी में घुलनशील विटामिन होता है, इसका मतलब है की शरीर इसको स्टोर नहीं करता है, इसको कुछ अलग-अलग प्रकार के आहार के स्त्रोत से लिया जाता है। विटामिन बी2 एक काफी अहम विटामिन है, इससे आपके शरीर को ऊर्जा बनाने में मदद मिलती है। इससे आपके शरीर का विकास होता है, दृष्टि अच्छी होती है, और त्वचा स्वस्थ रहती है। बी2 वैसे बच्चे की हड्डी के लिए भी काफी अहम होता है, इसके साथ ये बच्चे की तंत्रिका और मसल विकास के लिए भी काफी ज़रूरी है। गर्भवती महिला को हर दिन 1.4 मिलीग्राम बी2 लेने की ज़रूरत पड़ती है।

खाने में बी2 के स्त्रोत

दूध, फोर्टीफाइड सेरियल और ब्रेड के उत्पादों में बी2 काफी अच्छी मात्रा में होता है। गेहूं के आटे और ब्रेड में भी इस विटामिन के सप्लिमेंट होते हैं।

नोट: आपको ये खाने बंद डब्बों में रखने चाहिए, क्योंकि प्रकाश से इसपर असर पड़ता है।

चलिए देखते हैं की नीचे दिए गए खाने में कितना रिबोफ्लेविन या बी2 होता है:

1 कप बिना वसा वाला दूध

30 ग्राम बादाम

आधा कप पालक, पका हुआ

आधा कप हरी फूल गोभी, कटी और उबली हुई

85 ग्राम भुना हुआ चिकन

वाईट ब्रेड एक अच्छा टुकड़ा

एक टुकड़ा पूरी ब्रेड

85 ग्राम गाढ़ा चिकन मीट, भुना हुआ

1 कप फोर्टीफाइड गेहूं का सेरियल

85 ग्राम सैल्मन मछली, पकी हुई

30 ग्राम चेडर चीज़

क्या आपको प्रेगनेंसी के दौरान बी2 सप्लिमेंट लेने चाहिए?

जिस आहार में काफी अच्छी मात्रा में अनाज, मीट, हरी सब्जी, दूध के उत्पाद, अंडे, और सेरियल हो उनमें आपको अच्छी मात्रा में बी2 मिल जाएगा। प्रसव से पूर्व के सप्लिमेंट में ये अच्छी मात्रा में होता है।

कुछ महिलाएं शाकाहारी होती हैं, या उनमें बी2 की काफी कमी होती है। इसकी कमी से एनीमिया, सूजे और दर्द वाले होंठ और मुंह हो सकता है।