क्या आपका पाचन तंत्र बेकार है? आप शायद ये विटामिन सही से नहीं ले रही हैं!

Vitamin B3 during pregnancy

 

आपको विटामिन बी3 की प्रेगनेंसी में ज़रूरत क्यों है?

विटामिन बी3 को नायसिन भी कहते हैं, ये दो रूप में उपस्थित होता है, एक निकोटिनामाइड और निकोटिनिक एसिड। इन दोनों रूप से आप खाने से ऊर्जा लेने में सक्षम हो पाते हैं। इससे आपकी त्वचा, और तंत्रिका तंत्र काफी अच्छा रहता है। इससे आपमें जी मिचलने की समस्या, सर दर्द और पाचन तंत्र अच्छा होता है। ये बच्चे के दिमाग के विकास के लिए काफी अहम होता है। प्रेगनेंसी में आपको दिन में 18 मिलीग्राम विटामिन बी3 लेना चाहिए।

खाने में बी3 के स्त्रोत:

निकोटिनामाइड और निकोटिनिक दोनों ही खाने में मिलते हैं। देखते हैं कितना विटामिन बी3 इन खानों में मिलता है:

115 ग्राम चिकन, भुना हुआ

115 ग्राम सैल्मन, पकी हुई

115 ग्राम टूना मछली, पकी हुई

115 ग्राम लीवर, थोड़ा सा तला हुआ

115 ग्राम मेमने का मीट, भुना हुआ

क्या आपको विटामिन बी3 के लिए सप्लिमेंट लेने चाहिए?

आपको वैसे आम खाने में विटामिन बी3 काफी अच्छी मात्रा में मिल जाता है, इसलिए आपको इसके लिए सप्लिमेंट लेने की ज़रूरत नहीं पड़ती है।

विटामिन बी3 की कमी कम ही लोगों में पाई जाती है क्योंकि आपको ये कई प्रकार के खानों में मिल जाता है। जो लोग अपने खाने में ज़्यादा कॉर्न या चारा लेते हैं उन्हें इसकी कमी होती है। इन दोनों में विटामिन बी3 बंधे हुए रूप में मिलते हैं।

विटामिन बी3 ज़्यादा लेने पर क्या होता है?

वैसे इस विषय पर कोई बड़ा अध्यन अभी तक नहीं किया गया है की प्रेगनेंसी में विटामिन बी3 ज़्यादा लेने पर क्या होता है। वैसे कुछ अध्यन में पता चला है की आपको इससे स्किन की समस्या या यकृत/लीवर डेमेज हो सकता है। अभी तक इस बात के पूरे सबूत नहीं मिले हैं की आप पर इसकी दवाई से क्या फर्क पड़ता है, आपको दवाई केवल डॉक्टर की मार्गदशन में ही लेनी चाहिए।