क्या आप शुद्ध शाकाहारी हैं? जानिए क्यों आपके लिए इस समय प्रसव पूर्व के विटामिन अहम हैं

Prenatal vitamins during pregnancy

आपके लिए इस समय प्रसव पूर्व के विटामिन काफी ज़रूरी हैं। खाने से सभी प्रकार के पोषण लेना काफी मुश्किल है, चाहे आप मीट, दूध उत्पाद, फल, सब्जी या अनाज ही क्यों ना लेते हों।

आपको गर्भधारण करने से पहले ही प्रसव पूर्व के विटामिन लेने शुरू कर देने चाहिए, सभी डॉक्टर आपको ये सलाह देंगे। आपको ऐसा करने से प्रेगनेंसी पूर्व सभी अच्छे पोषण मिल जाते हैं।

जिन महिलाओं को आहार से जुड़ी कोई रोक है, स्वास्थ समस्या है या प्रेगनेंसी में कोई दिक्कत है उन्हें प्रसव पूर्व के विटामिन की काफी ज़रूरत पड़ती है। इसके अलावा जिन महिलाओं को

खाने से जुड़े विकार हैं

कोई भयंकर बीमारी है

पेट में दो या ज़्यादा बच्चे हैं

जो शाकाहारी या शुद्ध शाकाहारी हैं

जिनकी बायपास सर्जरी हो चुकी है

जिन्हें किसी प्रकार के खाने दिक्कत है

जो सिगरेट या शराब पीते हैं

जिनके खून में विकारता है

इन सभी महिलाओं को प्रसव पूर्व के विटामिन काफी नियमित तरीके से लेने पड़ते हैं।

मुझे प्रसव पूर्व के सप्लिमेंट से ऐसा क्या मिलेगा जो मुझे खाने से नहीं मिल सकता है?

दो सबसे अहम पोषण पदार्थ-फॉलिक एसिड और आइरन। ये दोनों ऐसे पोषक पदार्थ हैं जो आपके सभी प्रसव पूर्व के विटामिन में होते हैं, और ये प्रेगनेंट महिलाओं को कभी खाने से नहीं मिलते हैं।

फॉलिक एसिड

गर्भधारण करने से एक महीने पहले और उसके एक महीने बाद आपको सही प्रकार से फॉलिक एसिड लेना चाहिए, ऐसा करने से आपके बच्चे को न्यूरल ट्यूब डिफ़ेक्ट होने का खतरा कम होता है, इन विकारता में स्पाइना बिफ़िडिया और अनेनसेफली होते हैं, ये फॉलिक एसिड सही प्रकार से लेने पर 70% कम होने का खतरा रहता है। फॉलिक एसिड से जन्म से जुड़े अन्य विकार होने का खतरा भी कम होता है, जैसे दिल की बीमारी, और अन्य विकार। फॉलिक एसिड से आपको प्रीक्लेम्सिया कम होने खतरा भी रहता है।

शरीर कृत्रिम रूप से मिलने वाले फॉलिक एसिड को काफी अच्छे तरीके से ले पाता है, शरीर को खाने से प्रकृतिक तरीके से फॉलिक एसिड लेने में थोड़ी दिक्कत होती है। इसलिए अच्छी फॉलिक एसिड से भरे खाने में भी आपको अच्छी मात्रा में फॉलिक एसिड देने की क्षमता नहीं होती, इसी वजह से आपको सप्लिमेंट लेने की सलाह दी जाती है।

आयरन

कई महिलाओं को ये पोषण अपने खाने से आसानी नहीं मिलता है। आयरन की कमी से एनीमिया हो सकता है। और एनीमिया की सही प्रकार से देखभाल नहीं होने से आपकी डिलिवरी समय से पहले हो सकते है, बच्चे का जन्म कम वज़न वाला हो सकता है, और बच्चे की मृत्यु भी सकती है।

प्रेगनेंसी किसी भी महिला के जीवन का काफी नाज़ुक हिस्सा होता है। इसलिए आपको इस समय अच्छे से अपना खयाल रखना चाहिए, और सभी पोषण लेने चाहिए, इससे आप और आपका बच्चा दोनों स्वस्थ रहते हैं।