प्रेगनेंसी और शराब

Drinking alcohol during pregnancy

प्रेगनेंसी में कितना एल्कोहल(शराब) पी जा सकती है?

प्रेगनेंसी में शराब लेना नहीं चाहिए। किसी को अभी तक ये नहीं पता की शराब की छोटी सी मात्रा से भी आपके बच्चे को क्या नुकसान हो सकता है।

कुछ एक्सपर्ट के अनुसार प्रेगनेंट महिलाओ और जो महिलाएं बच्चे के बारे में प्लैन बना रही हैं उन्हें शराब नहीं पीनी चाहिए। एक्सपर्ट के अनुसार ऐसा करने से बच्चे पर काफी असर पड़ सकते हैं, जो उसके लिए सही नहीं है।

पिछले कुछ दिनों में कई जगह ये अध्यन में छपा है की प्रेगनेंसी में थोड़ी सी शराब पी जा सकती है, और इससे बच्चे को नुकसान नहीं होता। उदाहरण के लिए 2012 में डेनिश शोधकर्ता ने एक अध्यन में कहा की जी बच्चों की माँ ने हफ्ते में एक से आठ एल्कोहल ड्रिंक ली थी, उनमें कई दिक्कत देखी गई।

इस अध्यन के बाद भी कहा गया की प्रेगनेंट महिलाओं को शराब से बिलकुल दूर रहना चाहिए। क्यों? क्योंकि प्रेगनेंसी में कितनी भी मात्रा लेना सही नहीं है, ना ये सेफ है।

शराब से बच्चे पर क्या फर्क पड़ता है?

जैसे ही आप शराब लेती हैं वैसे ही वो सीधे आपके खून में जाती है, और गर्भनाल को पार करती है, फिर बच्चे तक जाती है। बच्चा इसको सही से पचा नहीं पाता, और उसके खून में ज़्यादा एल्कोहल मिल सकता है।

शराब पीने से आपके बच्चे के विकास पर कई प्रकार से फर्क पड़ सकता है। इससे गर्भपात या मृत बच्चे के पैदा होने का खतरा बढ़ सकता है। दिन में एक ड्रिंक लेने से भी आपके गर्भपात का खतरा बढ़ सकता है, या इससे आपके बच्चे पर असर पड़ सकता है, वो सीखने, बोलने, समझने में काफी देरी कर सकता है।

अगर आप अपने बच्चे के लिए शराब पीना छोड़ सकती हैं तो इससे आप कुछ जश्न मिस करेंगी, लेकिन अंत में आपका बच्चे के लिए ये करके आपको काफी अच्छा महसूस होगा। कुछ एक्सपर्ट के अनुसार जिन महिलाओं को कुछ खास चीज़ का रिस्क रहता है उन्हें खासकर एल्कोहल से दूर रहना चाहिए। आपको यदि पेट की समस्या है, नशे की लत है या अन्य कोई बड़ी दिक्कत है तो आपको शराब से दूर ही रहना चाहिए।

वैसे भी आपको बस नौ महीनों के लिए शराब से दूर रहना है, उसके बाद बच्चे के आने की खुशी में आप जाम लगा सकती हैं, लेकिन हाँ इस समय भी आपको काफी सतर्क ही रहना होगा, लेकिन बच्चे के लिए ये सब आप कर ही सकती हैं।

कुछ अध्यन से पता चलता है की जो महिलाएं प्रेगनेंसी में एक या ज़्यादा ड्रिंक लेती हैं उनके बच्चे बाद में जाके थोड़े ज़्यादा आक्रामक या उनका व्यवहार थोड़ा अजीब होता है। एक अध्यन में ये भी पता चला की जिन लड़कियों की माँ ने शराब पी थी, उन्हें दिमाग से जुड़े कुछ विकार हुए।

फेटल एल्कोहल स्पेक्ट्रम डिसॉर्डर(एफ़एएसडी) वो शब्द है जिसे सभी एक्सपर्ट उन सभी समस्या के लिए इस्तेमाल करते हैं जो प्रेगनेंसी में शराब की वजह से होती हैं। शराब की वजह से बच्चा का विकास पेट में या जन्म लेने के बाद काफी बेकार होता है, छेरे के अंग अजीब हो सकते हैं, दिल में समस्या हो सकती है, या इससे बच्चे की केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र पर असर पड़ सकता है।

जिन बच्चों को एल्कोहल सिंड्रोम होता है उनके सर छोटे और बाकी अंग भी छोटे हो सकते हैं। केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र में नुकसान की वजह से बच्चे की बुद्धि थोड़ी आम से अलग हो सकती है, बच्चे को इससे अन्य शरीर की समस्या भी हो सकती है।

जो महिलाएं कुछ ज़्यादा ही एल्कोहल लेती हैं मतलब जो महिलाएं हफ्ते में आठ/ज़्यादा या जो एक ही दिन में तीन से ज़्यादा शराब लेती हैं, उनके बच्चे को एल्कोहल से जुड़े विकार हो सकते हैं। जो महिलाएं कम भी पीती हैं उनके बच्चे को भी बाद में जाकर दिक्कत हो सकती है।

मदद कैसे लें?

अगर आप प्रेगनेंसी में पूरी तरह से शराब नहीं छोड़ सकती हैं तो आपको जल्द से जल्द मदद लेनी चाहिए। आपके पास नीचे दिए कुछ विकल्प हैं:

अपने डॉक्टर से सलाह और उपचार लें

आप नशामुक्ति केंद्र में जाकर अपनी आदत को कम कर सकती हैं।

बिना एल्कोहल वाली ड्रिंक जैसे बीयर या वाइन को ले सकते हैं?

‘नॉनएल्कोहल’ या बिना एल्कोहल वाला ये शब्द काफी भ्रमक है, लोग वाइन और बीयर के लिए ये शब्द इस्तेमाल करते हैं। ‘नॉन-एल्कोहल’ में भी अच्छी मात्रा में एल्कोहल हो सकता है। लेकिन ‘एल्कोहल-फ्री’ में कोई एल्कोहल नहीं होना चाहिए। कुछ अध्यन में पता चला की कई कंपनी जितना लिखती हैं उससे ज़्यादा एल्कोहल अपने उत्पाद में रखती हैं। यहाँ तक की कुछ ‘एल्कोहल-फ्री’ ड्रिंक में भी अच्छा एल्कोहल होता है।

हालांकि आपको कुछ लोग कहते हुए मिल जाएंगे की थोड़ा और कभी-कभी लेने से बच्चे को कुछ नहीं होता, पर सच्चाई कुछ और ही है। शराब के खतरे से बच्चे को बचाने के लिए आपको प्रेगनेंसी में इस चीज़ को पूरी तरह से छोड़ देना चाहिए।

मुझे पता चलने से पहले की मैं प्रेगनेंट हूँ अगर मैंने थोड़ी शराब पी हो तो?

यदि आपने ऐसा किया है तो ज़्यादा टेंशन ना लें। इससे बच्चे को कोई नुकसान नहीं होगा। सबसे बड़ी बात ये है की आपको अब इस समय ज़्यादा से ज़्यादा स्वस्थ रहना है। आपको इस दिन के बाद से कोई एल्कोहल भी नहीं लेना है, इससे आप और आपका बच्चा एक दम स्वस्थ रहेगा।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।