चाहते हैं की आपका बच्चा स्मार्ट हो? तो फिर आपको ये विटामिन लेना पड़ेगा!

Vitamin B1 during pregnancy

थियामिन को विटामिन बी1 भी कहते हैं, ये आपको और आपके बच्चे के कार्बोहाइड्रेट को ऊर्जा में बदलने में मदद करता है। इससे आपकी तंत्रिका तंत्र, और मसल को मदद मिलती है, और इससे हृदय सही प्रकार से काम करता है। ये बच्चे के दिमाग के विकास के लिए काफी अहम है। वैसे आमतौर पर एक प्रेगनेंट महिला को एक दिन में विटामिन बी1 1.4 मिलीग्राम लेना चाहिए।

विटामिन बी1 के खाने में स्त्रोत:

इसमें फोर्टीफाइड ब्रेड, पूरे अनाज के उत्पाद, सेरियल, मटर और सुखी हुई बीन्स शामिल हैं। विटामिन बी1 फलों में भी मौजूद रहता है, ये सब्जियों में होता है, इसको दूध के उत्पादों में भी देखा गया है लेकिन कम मात्रा में। चलिए देखते हैं की इन खानों में विटामिन बी1 की मात्रा

एक कप प्लेन गेहूं का सेरियल

एक कप फोर्टीफाइड फूला हुआ गेहूं का सेरियल

एक कप सफ़ेद चावल, पके हुए

आधा कप हरे मटर, पके हुए

एक टुकड़ा सफ़ेद ब्रेड

एक टुकड़ा गेहूं की ब्रेड

आधा कप पालक, पका हुआ

एक बड़ा अंडा, ढंग से उबला हुआ

एक कप भूरे चावल, पके हुए

आधा कप मसूर, पकी हुई

एक संतरा

एक कप दूध

नोट: 3 आउंस मीट का आकार ताश के पत्ते की गड्डी के बराबर होता है।

क्या मुझे विटामिन बी1 सप्लिमेंट लेने चाहिए?

इस बात की संभावना काफी ज़्यादा है की आपको अनाज वाली ब्रेड खाने से काफी अच्छी मात्रा में विटामिन बी1 मिले, लेकिन अगर इससे आपको प्रचुर मात्रा में विटामिन बी1 नहीं मिलता तो आपको मल्टीविटामिन लेने की ज़रूरत है। अपने डॉक्टर से इस बारे में बात करें।

विटामिन बी1 चावल की बाहरी परत पर पाया जाता है, जो पकाते हुए हट जाता है।

विटामिन बी1 कमी के संकेत

इसके सबसे बड़े संकेत में से एक है कमजोरी, जी मिचलना, और थकान। इसकी बड़ी कमी को बेरीबेरी कहते हैं, इससे आपको चलने में दिक्कत होती है, दिमाग में कन्फ़्युशन होता है, बोलने में दिक्कत होती है, आपको हाथ और पाँव में कम फील होता है, लकवा आने की संभावना रहती है, व सांस लेने में दिक्कत होती है।