डॉक्टर डेस्क: प्रेगनेंसी में एक्सर्साइज़

Exercise in pregnancy

सभी इंटरनेशनल मेडिकल अथॉरिटी सलाह देती हैं की जिन महिलाओं की प्रेगनेंसी दिक्कत वाली नहीं है उन्हे एक अच्छी दिनचर्या के रूप में एक्सर्साइज़ करनी चाहिए। ACOG के अनुसार हफ्ते में कम से कम 30 मिनट के लिए तीन बार फिजिकल एक्सर्साइज़ करनी चाहिए। प्रेगनेंसी में एक्सर्साइज़ करने के कई फायदे देखे गए हैं।

प्रेगनेंसी में एक्सर्साइज़ करने से इन चीजों में मदद मिलती है:

  1. मूड अच्छा रहता है
  2. गर्भनाल को मिलाकर पूरे शरीर में रक्त का संचार अच्छा रहता है
  3. शरीर का बढ़ा हुआ वज़न अनुकूल रहता है
  4. नींद अच्छी आती है और चिंता कम होती है
  5. प्रेगनेंसी में होने वाले कब्ज़ से निदान मिलता है
  6. पीठ के दर्द से बचाता है
  7. मासपेशियाँ मजबूत होती है और स्टेमिना बढ़ता है जिससे प्रसव दर्द को झेलने की ताकत मिलती है
  8. प्रेगनेंसी में आने वाली समस्या, डायबटीस, और हाइपरटेंशन में एक्सर्साइज़ से मदद मिलती है। और बीमारी नियंत्रण में भी रहती है।

प्रेगनेंसी में एक्सर्साइज़ करने के तरीके

  • आप उन एक्सर्साइज़ को डॉक्टर की सलाह से कर सकती हैं जिन्हे आप पहले से कर रही हों
  • अगर आप प्रेगनेंसी में पहली बार एक्सर्साइज़ कर रही हों तो शुरू में 5-10 मिनट तक एक्सर्साइज़ करें और धीरे-धीरे 5 मिनट तक इसे बढ़ाएँ जब तक आप दिन में 30 मिनट तक एक्सर्साइज़ ना करें
  • आपको उस हद तक ही एक्सर्साइज़ के दिशा-निर्देश दिए जाते हैं की आप एक्सर्साइज़ के दौरान बात कर सकें
  • अगर आपको चक्कर, सर में दर्द, या सांस में कमी हो तो तुरंत एक्सर्साइज़ रोक दें
  • आरामदायक कपड़े पहनें
  • वॉर्म अप और कूल डाउन होना ना भूलें
  • द्रव अच्छी मात्रा में लें

प्रेगनेंसी के दौरान की जाने वाली एक्सर्साइज़:

  • तेज़ी से टहलना
  • किसी की देख-रेख में लगभग सभी रूपों के योगा
  • तैरना/पानी के एरोबिक्स
  • कम असर वाले एरोबिक्स
  • बेले
  • डांस
  • अंदुरिणी मसल और बैलेन्स के लिए पिलेट्स
  • बर्थ बॉल
  • दौड़ना
  • साइकिल चलाना(गिरने से बचने के लिए खड़ी साइकिल में पैडल करना अच्छा है)
  • बागीचे का काम करना, घरेलू काम करने; ज़्यादा वज़न ना उठाएँ