प्रेगनेंसी के दौरान एरोबिक्स एक्सर्साइज़ के क्या फायदे होते हैं?

aerobic exercises

प्रेगनेंसी के दौरान मुझे एरोबिक एक्सर्साइज़ क्यों करनी चाहिए?

एरोबिक्स आपके शरीर के लिए पूर्ण रूप से काफी अच्छी एक्सर्साइज़ है। कम असर डालने वाली एरोबिक एक्सर्साइज़ करने से आपको नीचे दिए फायदे होंगे:

इससे आपका दिल और फेफड़े अच्छे तरीके से काम करेंगे और इन्हे मजबूती भी मिलेगी

इससे मासपेशियाँ भी अच्छी रहती हैं

नींद अच्छी आती है

दर्द में आराम मिलता है

क्या प्रेगनेनिस में एरोबिक्स करना सुरक्षित है?

कम असर वाले एरोबिक्स आपके शरीर के लिए काफी अच्छा होते हैं, और इन्हे आप प्रेगनेंसी में भी कर सकती हैं। इन्हे कम असर वाला इसलिए कहा जाता है की क्योंकि यह आपकी फिटनेस को मैंटेन रखता है, उसे अच्छा नहीं करता। इसकी सलाह इसलिए दी जाती है क्योंकि जब आप प्रेगनेंट होती हैं तो आपका लक्ष्य अपने शरीर का ध्यान रखना होना चाहिए। शरीर को बेहतर तो बच्चे के आने के बाद भी किया जा सकता है।

क्या मैं एरोबिक एक्सर्साइज़ घर पर कर सकती हूँ?

हाँ आप कर सकती हैं, हालांकि आपको किसी प्रॉफेश्नल की देखरेख में क्लास जॉइन करनी चाहिए। इसके कई फायदे होते हैं:

  • आपका ट्रेनर आपके अनुसार एक्सर्साइज़ बताएगा। इससे आप फिट रहेंगी
  • आप बाकी प्रेगनेंट महिलाओं के साथ रहना पसंद करेंगी
  • आप वहाँ दोस्त भी बनाएँगी और उनके साथ अपनी बातें शेयर कर सकती हैं
  • आपके आस-पास के लोगों की वजह से आपमें उत्साह बना रहेगा
  • अगर आपको जुंबा जैसे ज़्यादा असर डालने वाले एरोबिक्स की आदत है तो आपका ट्रेनर आपको उसमें कुछ नए तरीके बता सकता है जिससे ये आपको सूट कर सके।

अपने डॉक्टर को बताना ना भूलें की आप एरोबिक्स कर रही हैं। अपने ट्रेनर को अपनी डेट के बारे में भी बताएं। इसकी वजह से वो आपको आपके अनुसार एक्सर्साइज़ देंगे।

आप अपने ट्रेनर से यह भी पूछ सकती हैं की क्या वो घर पर एक्सर्साइज़ करवाते है या नहीं। इससे आपको ज़्यादा आसानी होगी। ट्रेनर आमतौर पर इसके लिए ज़्यादा पैसा मांगते हैं पर यह सब आपकी सेहत के सामने कुछ नहीं है।

अगर आपने लाइफ में पहले कभी एरोबिक्स नहीं की है तो चलने, टहलने, तैरने और योगा करने से आपको मदद मिलेगी।

प्रेगनेंसी में एरोबिक्स करने के तरीके

  • एक्सर्साइज़ करने से पहले थोड़ा स्ट्रेच कर लें
  • एक्सर्साइज़ करते हुए आरामदायक और पतले कपड़े पहनें। पतले कपड़ों से आपको सांस लेने में आसानी होती है और ज़्यादा गर्मी नहीं होती।
  • सबसे ज़रूरी है की आप अपने शरीर में पानी की कमी नहीं होने दें। हर समय अपने पास पानी की बोतल रखें, और हर समय पानी पीना सही है
  • अपने शरीर की आवाज़ सुनें। बीच में आराम करते रहें जिसकी वजह से आप ज़्यादा थकेंगी नहीं। यह भी देखें की आपकी सांस ना फूले। जब आपका शरीर बोले तब रुक जाएँ- याद रखें आपको अपने शरीर को ज़्यादा तकलीफ नहीं देनी है। प्रेगनेंसी में एक्सर्साइज़ करने का मकसद शरीर को फिट रखना है।
  • तीसरी तिमाही में आप कूल्हे और ज़मीन से जड़ी एक्सर्साइज़ हर बार अपनी क्लास से पहले करें
  • अगर आपको कोई दिक्कत आ रही है तो अपने ट्रेनर को बताएं। साथ ही अपने डॉक्टर के साथ संपर्क में भी रहें।