प्रेगनेंसी के समय मुझे एक्सर्साइज़ क्यों करनी चाहिए?

प्रेगनेंसी आपके लिए थकाने वाला अनुभव हो सकता है। इस समय आपको शारीरिक और मानसिक मुश्किल से गुजरना पड़ता है, और आपके दिमाग में काफी उथल-पुथल रहती है। इस सबके बीच में एक्सर्साइज़ करना शायद ही एक ऐसी चीज़ है जो आप करना चाहोगे। लेकिन हम आपको बताना चाहेंगे की एक्सर्साइज़ के आपके शरीर और मस्तिष्क पर काफी अच्छे असर पड़ते हैं, और इससे आपकी गर्भावस्था आसान होती है। तो एक्सर्साइज़ करने से प्रेगनेंसी में कैसे मदद मिलती है?

अच्छा दिखें और महसूस करें

एक्सर्साइज़ करने से आपकी त्वचा तक खून काफी ज़्यादा पहुंचता है। इससे आपके चेहरे पर चमक दिखती है और निखार ऐसा होता है जो आपको काफी अच्छा लगेगा। इससे दिमाग में एंडोरफिंस ज़्यादा बनते हैं, एक ऐसा केमिकल जिससे आपकी एनर्जि बढ़ती है। एक्सर्साइज़ करने से आपका मूड अच्छा हो सकता है और इससे चिंता और डिप्रेशन भी कम होता है, जो प्रेगनेंसी में होने वाली समस्या है।

अपने शरीर को जन्म के लिए तैयार करें

बच्चे को जन्म देने के लिए आपको काफी क्षमता और ऊर्जा चाहिए। प्रेगनेंसी में होने वाली एक्सर्साइज़ आपको इस प्रसव के दिन के लिए तैयार करती हैं। आपको बच्चे को जन्म देते हुए मानसिक और शारीरिक रूप से मजबूत होना पड़ता है। डॉक्टर और एक्सपर्ट आपको डिलिवरी के दिन के लिए तैयार करने की वजह से काफी ध्यान लगाने की तकनीक सिखाते हैं इससे आप सही तरीके से सांस ले पाती हैं।

आप एंगों हैल्थ पर रजिस्टर करके फिटनेस के बार में लेटेस्ट जानकारी ले सकती हैं साथ ही एक्सपर्ट द्वारा बनाए गए मासिक फिटनेस प्लेन को भी आप पा सकती हैं।

प्रेगनेंसी की समस्या को आसान करें

प्रेगनेंसी में एक्सर्साइज़ करने से आपका दिल मजबूत होता है और शरीर में रक्त का संचार अच्छा होता है, जिससे आपकी एनर्जि बढ़ती है। इसके अलावा:

  • एक्सर्साइज़ से शरीर में दर्द कम होता है, और मसल में तनाव भी सुधरता है
  • टहलने से आपके शरीर में खून का संचार अच्छा रहता है
  • स्विमिंग करने से आपके पेट की मसल मजबूत होती है। इससे आपको बच्चे के बढ़ते हुए वज़न में सपोर्ट मिलता है

प्रेगनेनिस की परेशानियाँ कम होती हैं

एक्सर्साइज़ से एक्लेमसिया और प्रेगनेंसी में होने वाले डायबटीस के रिस्क कम होते हैं।

नींद अच्छी आती है

प्रेगनेंसी में होने वाले मरोड़ों और मानसिक तनाव की वजह से कुछ महिलाओं को सोने में दिक्कत आती है। बढ़े हुए पेट की वजह से सोने की एक अच्छी पोसिशन नहीं मिल पाती है। एक्सर्साइज़ से आप बढ़ा फैट और तनाव को कम कर पाएँगी, इससे आपके शरीर को आराम सा मिलता है, और इस वजह से नींद अच्छी आती है।

यह जानने का क्या तरीका है की प्रेगनेंसी में एक्सर्साइज़ करना सुरक्षित है?

कुछ भी शुरू करने से पहले आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। दूसरी तिमाही में आते ही आपके डॉक्टर आपको एक्सर्साइज़ के प्लेन बता देंगे। हालांकि अगर आपको ऐसी कोई समस्या है जिससे आपकी प्रेगनेंसी को खतरा हो सकता है तो आपके डॉक्टर आपको कोई भी शारीरिक काम करने से मना कर सकते हैं। कुछ ऐसी कंडिशन जहां डॉक्टर आराम की सलाह देते हैं:

  • हाइपरटेंशन
  • गर्भपात का खतरा
  • समय से पूर्व जन्म देने की हिस्ट्री
  • योनी से खून निकलना