40% बांझपन की वजह फ़ेलोपियन ट्यूब में रुकावट होती है

Blocked Fallopian Tubes

फ़ेलोपियन ट्यूब दो पतली ट्यूब होती हैं, ये गर्भाशय के दोनों तरफ होती हैं, जिससे परिपक्व अंडे अंडाशय से गर्भाशय में जाते हैं। अगर किसी रुकावट की वजह से अंडा ट्यूब में सफर नहीं कर पाता तो इसका मतलब है की उस महिला की फ़ेलोपियन ट्यूब में रुकावट या ब्लॉकेज है, इसको ट्यूब वाला बांझपन भी कहते हैं। ये रुकावट एक या दोनों तरफ हो सकती है, और 40% बांझपन की वजह भी यही होती है।

फ़ेलोपियन ट्यूब में रुकावट और बांझपन

हर महीने जब अंडोत्सर्जन होता है तब अंडाशय से अंडा छुटता है। तब ये अंडा अंडाशय से निकलता है फिर ये ट्यूब से होकर गर्भाशय में जाता है। शुक्राणु भी गर्भाशय ग्रीवा से अपना रास्ता बनाता है, व गर्भाशय से होकर ये फ़ेलोपियन ट्यूब तक पहुंचता है। निषेचन तभी होता है जब अंडा ट्यूब में सफर कर रहा होता है।

अगर ट्यूब के एक या दोनों तरफ ब्लॉकेज है तो अंडा गर्भाशय तक नहीं पहुँच पाता, और शुक्राणु भी अंडा तक नहीं पहुँच पाता, इसलिए निषेचन और फिर गर्भ नहीं ठहर पाता। इस बात के चान्स होते हैं की ट्यूब पूरी तरह बंद नहीं हो, ये भी हो सकता है की इसका कुछ हिस्सा बंद हो। इससे ट्यूबल प्रेगनेंसी के चान्स भी बढ़ते हैं।

फ़ेलोपियन ट्यूब में रुकावट के संकेत

पीरियड अगर नहीं हो रहे हो इसका मतलब है की डिंबक्षरन हो रहा है, इससे अलग फ़ेलोपियन ट्यूब में रुकावट के कोई लक्षण मुश्किल से ही दिखाई देते हैं। एक खास प्रकार की ब्लॉक फ़ेलोपियन ट्यूब हाइड्रोसेलपिंक्स कहते हैं, इसमें आपको पेट में नीचे की तरफ दर्द हो सकता है और आपकी योनि से कुछ अजीब सा द्रव आ सकता है, लेकिन सभी महिलाओं को इसके लक्षण दिखाई नहीं देते।

हाइड्रोसेलपिंक्स तब होता है जब रुकावट की वजह से आपकी ट्यूब फैलती है और इसमें द्रव भर जाता है। ये द्रव अंडे और शुक्राणु का रास्ता रोकता है, इसलिए निषेचन नहीं हो पाता और प्रेगनेंसी ठहर नहीं पाती।

हालांकि कभी कभी फ़ेलोपियन ट्यूब में रुकावट से कुछ और परेशानी भी खड़ी हो सकती है। उदाहरण के लिए: एंडोमिटरियोसिस और श्रोणि की बीमारी से आपको सेक्स या पीरियड में दर्द हो सकता है, लेकिन इन लक्षणों से हमेशा ये पता नहीं लगता की ट्यूब ब्लॉक हो गई है।

फ़ेलोपियन ट्यूब में रुकावट के कारण

सबसे मेन कारण है श्रोणि में सूजन की बीमारी, जिसे इंग्लिश में पेल्विक इन्फ़्लेमेटरी डिज़ीज़ कहते हैं। ये सेक्स द्वारा होने वाली बीमारी की वजह से होती है। ये भी देखा गया है की श्रोणि की ये बीमारी हमेशा सेक्स से जुड़े इन्फ़ैकशन या वाइरस से नहीं होती। अगर आपको ये श्रोणि सूजन की बीमारी नहीं भी है लेकिन अगर आपको ये पहले हो चुकी हो या श्रोणि में इन्फ़ैकशन से आपकी ट्यूब ब्लॉक हो सकती है।

फ़ेलोपियन ट्यूब में रुकावट के अन्य कारण:

एंडोमिटरियोसिस यानि अंतर्गर्भाशय-अस्थानता

या तो आपको अभी या पहले कभी सेक्स से जुड़ी बीमारी रही हो, जैसे क्लैमीडिया या गोनोरिया

अपेंडिक्स की हिस्ट्री

पेट की सर्जरी की हिस्ट्री

यदि आपको पेशाब की थैली का इन्फ़ैकशन हुआ हो

फ़ेलोपियन ट्यूब की सर्जरी

ब्लॉक ट्यूब का कैसे पता चलता है?

ब्लॉक ट्यूब का पता वैसे एक्स-रे से चलता है। इसमें एक डाय को गर्भाशय ग्रीवा में ट्यूब की इस्तेमाल करते हुए रखा जाता है। डाय देने के बाद डॉक्टर आपकी श्रोणि के एरिया का एक्स-रे लेते हैं।

अगर सब कुछ ठीक है तो डाय आपके गर्भाशय से होकर, ट्यूब से होते हुए अंडाशय को थोड़ा गिरा देगी और श्रोणि के एरिया से बाहर निकलेगी। अगर डाय ट्यूब से नहीं जाती है तो इसका मतलब है की आपकी फ़ेलोपियन ट्यूब ब्लॉक हो सकती है। आपको ये भी पता होना चाहिए कभी-कभी ये टेस्ट पॉज़िटिव आता है, लेकिन इसका ये मतलब नहीं है की आपकी ट्यूब ब्लॉक है। अगर ब्लॉकेज वहाँ है जहां फ़ेलोपियन ट्यूब गर्भाशय से मिलती है तो डॉक्टर फिर कभी इस टेस्ट को दुबारा करेंगे, या आपको फिर से कोई दूसरा टेस्ट लेने को कहेंगे।

दूसरे टेस्ट में आपको अल्ट्रासाउंड, हिस्ट्रोस्कोपि लेने के लिए कहा जाएगा। जिससे पता चलेगा की सही में आपकी ट्यूब ब्लॉक यानि यहाँ रुकावट है या नहीं।

ट्यूब के ब्लॉक होने पर प्रेगनेंसी की संभावना-उपचार:

अगर आपकी एक ट्यूब खुली है और आप स्वस्थ हैं तो आपको बिना किसी ज़्यादा मदद के गर्भवती होने में दिक्कत नहीं आएगी। आपके डॉक्टर आपको निषेचन के लिए दवाई दे सकते हैं जिससे ट्यूब के एक तरफ अंडोत्सर्जन होगा। हालांकि अगर दोनों ट्यूब बंद हैं तो ये तकनीक किसी काम की नहीं है।

लेपरास्कोपिक सर्जरी है ब्लॉक ट्यूब का इलाज़

किसी-किसी केस में ये लेपरास्कोपिक सर्जरी आपकी ट्यूब में रुकावट को खोल सकती है या वहाँ से वो ऊतक हटा सकती है जिसकी वजह से दिक्कत आ रही है। बुरी बात ये है की ये उपचार हमेशा काम नहीं करता। इसमें सफलता के चान्स इस बात पर निर्भर करते हैं की महिला की उम्र क्या है, और रुकावट कितनी गंभीर है।

अगर ट्यूब और अंडाशय के बीच में ज़्यादा रुकावट नहीं है तो सर्जरी के बाद आपके प्रेगनेंट होने के चान्स काफी ज़्यादा हैं। अगर आपकी ब्लॉक ट्यूब स्वस्थ है तो आपके प्रेगनेंट होने के चान्स 20 से 40% हैं।

अगर आपकी ट्यूब में रुकावट कुछ ज़्यादा ही मोटी है तो या यदि आपको हाइड्रोसेलपिंक्स की समस्या है तो आपके ऑपरेशन करवाना शायद उतना भी अच्छा विकल्प नहीं हो। इसके साथ ही अगर आपके पति में कोई दिक्कत है तो आपको सर्जरी नहीं करवानी चाहिए, आप यहाँ टेस्ट ट्यूब बेबी या आईवीएफ़ का चुनाव कर सकती हैं।

इसके साथ ये भी जानना ज़रूरी है की आपको सर्जरी के बाद अस्थानिक प्रेगनेंसी होने का रिस्क है। आपके डॉक्टर आप पर काफी पैनी नज़र रहेंगे और अगर आप प्रेगनेंट हुई तो डॉक्टर आपको आगे मदद देंगे।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।