प्रेगनेंसी के दौरान श्रोणि में दर्द होना

pelvic pain

प्रेगनेंसी आपके जीवन का सबसे अच्छा समय होता है, लेकिन इस समय दिक्कत भी काफी होती हैं। श्रोणि में दर्द होना भी इन्हीं बड़ी दिक्कतों में शामिल है।

इस दर्द के लक्षण 

श्रोणि के जोड़ के हिलने से जो दर्द होता है उसकी वजह से ये दर्द होता है। हालांकि इससे आपके बच्चे के जीवन पर कोई असर नहीं पड़ता है पर निश्चित रूप से इससे आपको दिक्कत तो होती है।

कुछ लक्षण निम्न हैं:

1.योनि की ऊपर वाली हड्डी में दर्द होना।

2.गूदे और योनि के बीच वाले हिस्से में दर्द होना।

चलने, सीढ़ी चढ़ने, मुड़ने या खड़े होने से आपको दर्द हो सकता है। अच्छी बात है की इसका इलाज़ हो सकता है और इससे ग्रसित महिला की डिलिवरी भी नॉर्मल हो सकती है।

इसकी दर क्या है?

ऐसा देखा गया है की कम से कम 20% महिलाओं को प्रेगनेंसी में इसकी शिकायत होती है।

आपको ये दर्द क्यों हो सकता है?

1.पहले से ही साइटिका की दिक्कत होना

2.इस भाग में पहले से चोट लगी हो

3.पहली प्रेगनेंसी में भी आपको ये दिक्कत रही हो

4.एक ऐसी जॉब जिसमें काफी काम करना पड़ता हो

क्या किया जाए?

इलाज़ सबसे अच्छी तरह काम करता है जब आप इसका जल्दी उपचार करवाते हैं। आप जहां दर्द हो रहा है वहाँ हल्की गतिविधि करते रहें, इससे आप जल्दी ठीक होंगी। अगर आपको दर्द कम होता हुआ नहीं दिखता तो किसी अच्छे फिजियोथेरेपिस्ट से मिलें। वो अपनी मसाज से आपका दर्द सही कर सकते हैं।

कुछ डॉक्टर आपको इस दर्द से बचने या इसका सामना करने के लिए एक्सर्साइज़ करने की सलाह भी देते हैं।

दर्द कम करने की तकनीक:

बैसाखी या श्रोणि को समर्थन देने वाली बेल्ट से आपको अच्छा लग सकता है

आप हो सके तो इस समय कम से कम चलें

सोते हुए आपको अपने पाँव के बीच में एक तकिया रखनी है

हो सके तो खुद को बिना दर्द दिए थोड़ा हिलने की कोशिश करें

बीच बीच में ब्रेक भी लें

अपने पार्टनर या फॅमिली से मदद लें

इस समय बिना हील्स वाले जूते पहनें, और वो जूते पहनें जिनकी सतह थोड़ी बड़ी हो।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।