क्या आपको पीरियड देरी से हो रहे हैं? महावारी से पूर्व और प्रेगनेंसी के लक्षण में अंतर जानिए!

Pms vs pregnancy symptoms

ज़िंदगी के आधे समय तो महिलाएं अपने पीरियड के समय पर नहीं होने की वजह से चिंतित रहती हैं। हर कोई अलग तरीके इसे से बता सकता है लेकिन एक बात पक्की है की ये चिंता का विषय हो सकता है। हर समय प्रीमेंसट्रूरल सिंड्रोम या प्रेगनेंसी के संकेतों में ही भ्रम बना रहता है।

प्रेगनेंट नहीं हैं!

नीचे दिए गए कुछ प्रीमेंसट्रूरल के लक्षण हैं, और यह काफी आम भी होते हैं:

मीठा खाने का मन करना

हालांकि आपको मीठा पसंद नहीं हो, लेकिन एक दम से आपको ओरियो कुकी खाने का मन करेगा। आपकी भूख बढ़ सकती है और काफी खा सकती हैं। ऐसा मन शुरुआती प्रेगनेंसी में नहीं होता है। इसके अलावा प्रेगनेंसी में आपको वो चीज़ें भी बुरी लग सकती हैं जो आपको कभी अच्छी लगी हो।

पानी अवरोध/सूजन

कई महिलाएं नीचे बैठके सूजन महसूस करती हैं। ऐसा पानी के अवरोध की वजह से हो सकता है। यह महावारी से पहले की लक्षण हैं। सूजन आमतौर पर प्रेगनेंसी में तब होती है जब बढ़ता हुआ गर्भाशय आपके पेट की केविटी पर असर डालकर आपके पाचन को धीमा करता है।

हाँ आप प्रेगनेंट हैं!

नीचे कुछ दिए गए लक्षण साफ कर देते हैं की आप प्रेगनेंट हैं, और कुछ नहीं:

नौसिया

अगर आपका उल्टी करने का मन कर रहा है तो यह प्रेगनेंसी की वजह से हो सकता है। यह दिन में कभी भी हो सकता है, वैसे ये आमतौर पर सुबह ही होता है।

स्तन का सूजना

अगर आप प्रेगनेंट हैं तो इस बात के चान्स हैं की आप सूजन के अलावा स्तन में दर्द भी महसूस करेंगी। यह दर्द PMS से ज़्यादा देर तक रहेगा, प्रोजेस्ट्रोन लेवल के बढ़ने की वजह से ऐसा होता है।

थकान/नींद ना आना

अगर आपको पूरे दिन सोने का मन कर रहा है और हमेशा थकान लगी रहती है, तो इसका मतलब आप प्रेगनेंट हो सकती हैं।

शायद हाँ शायद ना!

कुछ लक्षण आपको कन्फ्युज कर देते हैं की वो महावारी से पहले के लक्षण हैं या प्रेगनेंसी से पहले के, ऐसी किसी भी स्थिति में आपको सलाह दी जाती है की आप डॉक्टर के पास जाएँ, और जांच करवाएँ। खून की जांच से आपके पीरियड मिस करते ही प्रेगनेंसी का पता चल सकता है, कभी कभी तो इससे पहले भी।

स्तन में संवेदनशीलता

दोनों ही केस में आपके स्तन ज़्यादा संवेदनशील हो सकते हैं। ये किस तरह की संवेदनशीलता है इससे ही केवल इसका पता लगाया जा सकता है। अगर आपके स्तन में दर्द है, इसका मतलब आप प्रेगनेंट हो सकती हैं। हालांकि अगर मात्र सूजन है तो इसका मतलब ये बस महावारी से पहले के लक्षण भी हो सकते हैं।

मूड बदलना

आपको शायद कोई इमोश्नल गाना सुनकर ही रोने का मन करे, या शायद आपको आम बातों पर ही रोना आ जाए। ऐसा PMS(प्री-मैंसट्रूरल सिंपटम) यानी महावारी से पहले के लक्षण और प्रेगनेंसी दोनों में हो सकता है। इन दोनों केस में अंतर कर पाना मुश्किल है।

मरोड़े

मरोड़े PMS और प्रेगनेंसी दोनों में हो सकते हैं। इन दोनों में आप खुद से अंतर नहीं कर सकते हैं। लेकिन अगर मरोड़े थोड़ी देर तक रहें तो आप प्रेगनेंट हो सकती हैं।

किसी अन्य गंभीर विकार के बारे में जानें

पीरियड का छूटना या देरी से होना, दोनों का ही हर बार मतलब प्रेगनेंसी नहीं होता। ये और वजह से भी हो सकता है, जैसे:

भार का बढ़ना या घटना/ बालों का एक दम से बढ़ना

अगर पीरियड के छूटने या देरी के साथ आप बालों का अजीब तरीके से बढ़ना देख रही हैं या आपने पिछले दिनों वज़न घटाया या बढ़ाया हो, तो आपको पॉली-सिस्टिक ओवेरियन डीज़ीज़(PCOD) हो सकती है। PCOD आजतक काफी आम हो गया है, हर 5 में से 1 भारतीय महिला को ये हो सकता है। मुहासे होना, तेल वाली त्वचा, और इनफर्टिलिटी इस बीमारी के अन्य लक्षणा हैं।

पसीने बढ़ना/नींद ना आना/कुछ ज़्यादा ही हलचल करना/ दिल की गति का अत्यधिक तेज़ होना

अगर पीरियड के अनियमितता के साथ आपको ऊपर बताए लक्षण दिख रहे हों तो आपको थाईरॉयइड हाइपरथाइरॉयइस्म हो सकता है। ऐसे समय में आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए।

हर अलग इंसान के लक्षण अलग होते हैं और आपको घर पर प्रेगनेंसी टेस्ट लेना चाहिए और संदेह होने पर अपने डॉक्टर से भी मिलना चाहिए। चाहे नतीजा कुछ भी रहे पर PMS और प्रेगनेंसी के लक्षण महिला के जीवन का एक अभिन्न हिस्सा है।