पहले और दूसरे बच्चे के बीच में कितना फांसला होना चाहिए?

इस सवाल का जवाब आपसे बेहतर कोई नहीं दे सकता है। लेकिन यह आसान सवाल नहीं है, इसमें काफी प्लेनिंग लगती है जैसे कब गर्भ निरोधक का इस्तेमाल बंद करना है, काम से अलग कितना समय निकालना है और सबसे बड़ी चीज़ क्या आप बच्चे का खर्चा संभाल पाएंगे।

कुछ लोगों के अनुसार पहले बच्चे से ज़्यादा मुश्किल दूसरे बच्चे को पैदा करना होता है, क्योंकि यहाँ एक बच्चा ही नहीं आता, बल्कि इससे आपके परिवार की पूरी शक्ल ही बदल जाती है।

नए बच्चे से पहले आपको सोचना चाहिए की उसके आने से आपकी दिनचर्या, काम, खर्चे, और सबसे बड़ी बात पहले बच्चे पर क्या फर्क पड़ेगा। कुछ पेरेंट से बात करके हमें पता चला की एक अधिक बच्चा हर काम को दोगुना कर देता है।

दूसरा बच्चा पैदा करने से पहले नीचे दिए कुछ पॉइंट आपको दिमाग में रखने चाहिए:

दूसरे बच्चे का सही समय क्या है?

कुछ लोग दूसरे बच्चे से पहले काफी समय लेते हैं। इस तरीके से दोनों बच्चों को काफी समय मिलता है, और पहला बच्चा भी इतना समझदार हो जाता है की नए बच्चे के आने से ज़िंदगी कैसे बदलेगी। कुछ लोग सोचते हैं की दूसरे बच्चे और पहले में ज़्यादा फर्क नहीं होना चाहिए, इससे दोनों के दोस्त बनने की संभावना काफी अच्छी होती है- वहीं दूसरी तरफ आप सालों तक बच्चे ही नहीं पालते रहेंगे।

इस बारे में एंगोहेल्थ से जुड़ी कुछ महिलाओं का ये कहना है:

  • एक पब्लिशिंग कंपनी में एक्सिकिटिव रीमा ने बताया,” मेरी दो बेटियों में साड़े तीन साल का फर्क है, और मेरे हिसाब से ये फर्क काफी अच्छा है। जब मेरी बड़ी बेटी ने डायपर का इस्तेमाल करना बंद कर दिया तब मैंने दूसरे बच्चे के बारे में सोचा। और अब उन दोनों का सामाजिक और शारीरिक विकास अलग तरह से हो रहा है, इसी वजह से दोनों में कभी ज़्यादा लड़ाई भी नहीं होती है। इन दोनों को साथ रहना सही में पसंद है।“
  • फ़ैशन डिज़ाइनर आस्था ने कहा,”कभी-कभी मैं सोचती हूँ की मेरे दोनों में बच्चों की उम्र में थोड़ा ज़्यादा फर्क होता, तो अच्छा होता। उन दोनों में बस 2 साल का ही फर्क है। मैं हर समय दोनों के डायपर के बारे में सोचती रहती हूँ। इसके साथ दोनों बच्चों को मेरा बराबर ध्यान चाहिए, मैं इस वजह से भी चिंता में रहती हूँ।’

दूसरे बच्चे के बारे में शोध क्या कहते हैं?

जब बात बच्चे की सेहत की आती है तो दूसरे बच्चे से पहले 2-3 साल का इंतज़ार करना ही बच्चे के लिए अच्छा है।

अध्यन से पता चला की पहले बच्चे के बाद जो महिलाएं 18 महीने के अंदर फिर से प्रेगनेंट हुई हैं उनका आने वाला बच्चा जल्दी, छोटा और कम वज़न का पैदा हो सकता है।

कुछ स्टडी से पता चला है की अगर पहले बच्चे के बाद माँ फिर से 12 महीने के अंदर प्रेगनेंट हुई तो इससे उसकी गर्भनाल को नुकसान हो सकता है।

और किन चीजों से निर्णय लेने में मदद मिलती है?

रहन-सहन

याद रखिए की बच्चा ही आपका जीवन बन जाता है। इस बात का फैसला करें की आपके पास नवजात के लिए ज़रूरी समय और ऊर्जा है भी या नहीं, और यह भी देखें की पहले से मौजूद बच्चे नए बच्चे के लिए तैयार हों।

आर्थिक स्थिति

हम मानते हैं की पैसा ही सब कुछ नहीं होता है, लेकिन जब परिवार को पालने की बात आती है तो यह काफी ज़रूरी बन जाता है। इकनॉमिक टाइम्स द्वारा अप्रैल 2011 में की गई स्टडी से पता चला की बच्चे के पैदा होने से उसे 21 साल तक पालने का खर्चा मिडिल क्लास, और अपर मिडिल क्लास के लिए 55 लाख रुपये आता है। इसलिए दूसरे बच्चे से पहले अपनी आर्थिक स्थिति पर प्लैन बनाना आपके ज़रूरी है।

आपकी उम्र

बदकिस्मती से सब वैसा नहीं होता जैसा हम प्लेन करते हैं। महिलाओं के केस में उनकी उम्र काफी ज़रूरी फैक्टर होता है। अगर आप 30 साल से कम उम्र की हैं और आपको गर्भधारण से जुड़ी कोई हेल्थ इशू नहीं है तो आप एक से ज़्यादा बच्चे के बारे में सोच सकती हैं।

आपका रवैया

जब बच्चा पैदा करने की बात आए तो बेहतर की आपका अपने पार्टनर से अच्छा मेलजोल हो। यह थोड़ा अजीब और मुश्किल हो सकता है लेकिन बात करना इस तरफ उठाया गया पहला कदम हो सकता है।