प्रसव और डिलिवरी के समय आपके पति के लिए 11 मुख्य सलाह

1.बहुत जल्दी हॉस्पिटल ना जाएँ

अगर प्रसव के पहले पड़ाव में आपके पार्टनर आपके साथ होंगे तो आपको काफी अच्छा लग सकता है, पर इस चक्कर में हॉस्पिटल कुछ ज़्यादा जल्दी मत जाइएगा, ऐसा होने पर डॉक्टर आपको सीधे घर भेज देंगे। घर पर होने से वैसे आपको आराम तो मिलेगा ही साथ हॉस्पिटल की टेंशन भी नहीं होगी।

2.आपको होनी चाहिए है जानकारी

बच्चे को जन्म देने के विषय में जो क्लास चलती हैं उनपर आपको ध्यान देना चाहिए। आपको प्रसव के चरणों के बारे में जानना चाहिए, ये भी जानना आपका काम है की आपकी पत्नी की बॉडी में क्या चल रहा है, और सी-सेक्शन यानी ऑपरेशन की ज़रूरत क्यों है। आपके शांत रहने से ही आपके पार्टनर की कोई मदद हो सकती है।

3.इंतज़ार करने के लिए तैयार हो जाइए

बच्चा पैदा करने से पहले आपके पार्टनर को कई मरोड़े जैसे अहसास हो सकते हैं। वैसे तो उनके एपिड्यूरल इंजेक्शन लेने पर निर्भर करता है उन्हें कमरे में टहलने के लिए आपकी मदद की ज़रूरत पड़ सकती है, कभी-कभी हिलने ढुलने से ही अच्छा महसूस होता है। इस समय आपको ताश के पत्ते, वीडियो वाला फोन और कुछ मनोरंजन का साधन भी अपने पास रख लेना चाहिए।

4.चिंता ना करें

डिलिवरी कक्ष में काफी कुछ चल रहा है, अगर आपको समझ नहीं आ रहा है की अंदर क्या चल रहा है तो आपको किसी नर्स से निसंकोच पूछ लेना चाहिए की क्या हो रहा है। अगर आपको बाहर जाने के लिए कहा जाए तो भी चिंता ना करें। आपकी पत्नी को एपिड्यूरल दी जाएगी और आपको बाहर जाने को कहा जाएगा। ऐसे होने का मतलब ये नहीं है की कुछ गड़बड़ है, इसका मतलब है की हॉस्पिटल अपने नियम फॉलो कर रहा है।

5.अपने मरोड़ों वाली स्क्रीन पर नज़र रखें

आपकी पत्नी अपने संकुंचन वाली स्क्रीन को नहीं देख सकती है पर आप इस स्क्रीन को देख सकते हैं। इसका मतलब आप उसे पता सकते हैं की अभी क्या चल रहा है। ऐसा करने से आपकी पत्नी को लगेगा की सब कुछ आपके और उनके नियंत्रण में है।

6.जो करने का मन करे वो करें

जो भी आपने अपनी पहले की क्लास में सीखा है वो हो सकता है की प्रसव में आपके काम आए या नहीं। कुछ महिलाओं को पसंद नहीं आता की उन्हें इस समय कोई टच करे, वहीं कुछ महिलाओं को अच्छा लगता है की उन्हें कोई पीठ पर मसाज करे। आपको इस समय अपनी सांस लेने की एक्सर्साइज़ का अभ्यास करना चाहिए।

7.बच्चे को जन्म देने में आप मदद करें

जिस समय आपकी पत्नी बच्चे को जन्म देने के लिए दम लगा रही होगी, उस समय आप उनकी साइड पर होंगे, और दूसरी साइड होंगे डॉक्टर। आपको पीछे से अपनी पत्नी को सहारा देना है, और उन्हें बच्चे को जन्म देने के लिए प्रेरित करना है।

8.आप उनके वकील बन जाइए

आपने अभी तक इस बारे में चर्चा कर ही ली होगी की आपको और आपके पार्टनर को कैसा जन्म चाहिए, और आप दोनों ऑपरेशन के बारे में क्या सोचते हैं। प्रसव एक ऐसी चीज़ है जो अच्छे अच्छों के विचार बदल देती है। ऐसा भी हो सकता है की डॉक्टर एक ऐसी बाहरी मदद की सलाह दें जो आपकी पत्नी नहीं चाहती या उसे उसकी ज़रूरत ही नहीं है। आपकी पत्नी शायद इस समय बात करने की स्थिति में नहीं होगी। और इसी समय आपको कहना है की आपकी पत्नी को कोई ऑपरेशन नहीं चाहिए, या चाहिए।

9.इस पल को सज़ों लें

अगर आप बच्चे के जन्म की वीडियो बना रहे हैं तो कुछ कोण का आपको खयाल रखना होगा। आपको ऐसा भी नहीं करना की आप कोई प्राइवेट पार्ट वीडियो में लें, और पूरी वीडियो ही खराब हो जाए। सबसे अच्छा है की आप अपने पार्टनर के पीछे से या डॉक्टर के ऊपर से वीडियो बनाएँ। कुछ भी करने से पहले डॉक्टर से पर्मिशन लें, क्योंकि कुछ डॉक्टर इसकी अनुमति नहीं देते हैं।

10.तैयार हो जाएँ: सब गंदा होने वाला है

किसी को जन्म लेते हुए देखना थोड़ा अलग अनुभव हो सकता है। आपको आंतों में गतिवधि भी दिख सकती है। आपकी पत्नी इस समय ऐसी आवाज़ें निकाल सकती है, जो शायद ही आपने कभी पहले सुनी होंगी। चाहे आपको कैसा भी लगे बस आपको यही कहना है की सब ठीक है, वैसे इस समय आपकी पत्नी आपकी आवाज़ शायद सुने भी नहीं, पर किसी जाने पहचाने का पास रहना ही काफी अच्छा अनुभव होता है। एक और चीज़ आपको अजीब लग सकती है, और वो है बच्चे का अपने गर्भनाल के साथ पैदा होना। आपको लगेगा की आपने आंत का बड़ा हिस्सा देख लिया, लेकिन ये आंत नहीं गर्भनाल होती है।

11.अपनी पहली मुलाक़ात का आनंद लें

अपने बच्चे को पहली बार देखने का अनुभव शायद दुनिया का सबसे अच्छा अनुभव होता है, और आप शायद बार-बार ऐसा करना चाहें।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारी प्रेगनेंसी हेल्थ, डाइट, एंड फिटनेस एप को यहाँ डाउनलोड कर सकते हैं।