बच्चे को जन्म देने से जुड़ी क्लास

Childbirth classes

बच्चे को जन्म देने वाली क्लास से मैं क्या सिखूंगी?

बच्चे को जन्म देने और प्रसव के लिए आप बच्चे को जन्म देने वाली क्लास से तैयार हो सकती हैं। वैसे तो ये अलग-अलग क्लास पर निर्भर करता है, लेकिन इसमें एक दिन की गहन क्लास से लेकर महीने भर वाली क्लास भी होती हैं। इस क्लास में लैक्चर, चर्चा, और एक्सर्साइज़ की जाती है।

इसमें सबके सिखाने का तरीका अलग-अलग हो सकता है, लेकिन सभी क्लास का एक ही मकसद होता है, और वो है आपको बच्चे के जन्म के लिए तैयार करना, इसमें सिखाया जाता है की कैसे आपको बच्चे को जन्म देने में डरना नहीं चाहिए। आपको वो तकनीक सिखाई जाएंगी, जिससे आपको प्रसव में मदद मिलेगी।

आप अपना टीचर अलग से चुन सकती हैं, इसके अलावा काफी हॉस्पिटल आपको ये सुविधा प्रदान करते हैं। क्लास प्रेगनेंसी की शुरुआत से लेकर बच्चे के जन्म के बाद तक चलती है।

वो क्लास लें, जिनमें ये चीज़ें कवर हों:

प्रसव की निशानी

प्रसव और बच्चे का जन्म कैसे आगे बढ़ता है

आपके पार्टनर कैसे प्रसव में आपकी मदद कर सकते हैं

आपको किस समय डॉक्टर को फोन करना चाहिए

इसके अलावा बच्चे को जन्म देने से जुड़ी क्लास में जन्म से जुड़ी बाकी समस्या पर बात की जाती है और बताया जाता है की कैसे इन समस्या का सामना कर सकते हैं। इसमें वो वीडियो भी दिखाई जाती है जिसमें बच्चे को निकालने के लिए ऑपरेशन होता है।

इन क्लास में आपको ये भी सिखाया जाता है की आपको अपने नवजात की कैसे देखभाल रखनी है, और बच्चे को दूध कैसे पिलाना है। अगर आपको बच्चे से जुड़ी जानकारी विस्तार में चाहिए तो आप डीटेल क्लास भी ले सकती हैं।

इसके अन्य फायदे: इन क्लास में आप अन्य कुछ दिनों में बनने वाले माता-पिता से भी मिल सकते हैं, जिनका बच्चा भी आपके बच्चे के पास-पास पैदा होगा। कुछ लोग तो बच्चा पैदा होने के बाद भी अपने टीचर के संपर्क में रहते हैं।

बच्चे को जन्म देने से जुड़ी क्लास कैसी होती हैं?

कुछ क्लास में आपको सिखाया जाता है की कैसे बच्चे को जन्म दिया जाता है, पर कई क्लास जो हॉस्पिटल द्वारा दी जाती हैं, उनमें ऐसा कुछ नहीं होता। आप इंटरनेट पर देख सकती हैं की आपके एरिया में ये क्लास कहाँ हो रही हैं।

अगर आपको बिना एपिड्युरल के बच्चे को जन्म देना है तो आप उस इंस्ट्रक्टर को ढूंढ सकती हैं जो दर्द को संभालने की कई तकनीक जानता हो। अगर आपको एपिड्युरल या और कोई दर्द निवारक दवाई लेनी है तो इसके लिए भी अलग कोर्स होता है।