बच्चे को जन्म देने के बाद आपके प्राइवेट पार्ट्स पर क्या असर पड़ता है?

Vagina after childbirth

प्रेगनेंसी में आप अपने बच्चे के जन्म लेने का इंतज़ार करती हैं और आप देखती हैं की आपका पेट कैसे बढ़ता है। इसी वजह से ये सोचना भी काफी आम है की बच्चे को जन्म देने के बाद आपकी योनि पर इस घटना का क्या असर पड़ेगा। आप ये भी सोच सकती हैं की क्या आपकी योनि से बच्चा सही तरीके से बाहर आ सकेगा या नहीं। आपके दिमाग में ऑपरेशन या एपीसीओटोमी को लेकर भी खयाल आ सकते हैं, और आप सोच सकती हैं की क्या आपको इनके लिए कहा जाएगा? जन्म देने के बाद आपकी योनी को फिर से सही होने में कितना समय लगेगा? जैसे हर डिलिवरी अलग है उसी प्रकार से हर महिला भी अलग होती है। अगर आपको पता है की क्या होने वाला है तो उससे आपके दिमाग में शांति आ सकती है।

योनी और बच्चे का जन्म

ये सोचना भी काफी मुश्किल है की बच्चा योनी से होता हुआ जन्म लेगा। लेकिन आपका शरीर इस काम के लिए ही बना है। हालांकि ये आपकी प्रेगनेंसी से ही इन हार्मोन्स को बनाकर आपको इस पल के लिए तैयार कर रहा है:

एस्ट्रोजन: इससे रक्त का संचार योनी तक अच्छे से होता है, इससे जन्म के समय योनी अच्छे से फ़ेल जाती है।

रिलेक्सिन: इससे आपके शरीर के लीगमेंट्स थोड़े फैलते हुए रिलेक्स होते हैं, जिससे आपकी श्रोणि का जोड़ फैलता है और बच्चे के आने के लिए जगह बनती है।

बच्चे को जन्म देते समय आपकी योनी का फैलना

आपकी योनी बच्चे को जन्म देते हुए कितनी फैलेगी, ये इन बातों पर निर्भर करता है:

आपके बच्चे का आकार

आपके जेनेटिक्स

आपने अपनी पेलविक फ्लोर एक्सर्साइज़ की या नहीं

जन्म की परिस्थितियाँ, आपने कितनी देर तक बच्चे को जन्म देने के लिए ज़ोर लगाया है।

इससे पहले आपने कितने जन्म दिए हैं।

अगर बच्चा आपकी योनी से पैदा हो रहा है और आपका मूलाधार फटा नहीं:

बच्चे को जन्म देने के बाद आप काफी असहज और दर्द महसूस कर सकती हैं। बच्चे के आने से पहले यदि आपका मूलाधार पूरी तरह से सही भी रहा हो पर बच्चे की वजह से ये थोड़ा फैल जाता है। कुछ महिलाओं को तीन से पाँच हफ्तों तक योनी में दिक्कत होती है। छींकते या खाँसते हुए आपका ये दर्द काफी बुरा हो सकता है, और आपको बैठने में दिक्कत हो सकती है। लेकिन समय के साथ ये दर्द अपने साथ गायब होता रहेगा।

अगर आपका मूलाधार प्रेगनेंसी के दौरान फट जाता है:

आपको फटने की वजह से थोड़ी जलन या दर्द हो सकता है, जिसके लिए आपको टांकों की ज़रूरत पड़ती है। इसे सही होने में कम से कम सात से दस दिन लगते हैं, इसलिए इस समय ज़्यादा टेंशन न लें। अगर आपके टांके सही तरीके से भर जाते हैं तो दर्द छह हफ्तों में गायब हो जाता है।

अगर आपका बच्चा सिजेरियन से हुआ है:

अगर आपने बच्चे को जन्म देने के लिए बिलकुल भी जान नहीं लगाई है तो बच्चे के आने के बाद आपकी योनी में कोई फैलाव नहीं होगा। लेकिन अगर बच्चे को सिजेरियन से पहले जन्म देने के लिए थोड़ा भी ज़ोर लगाया है तो इससे बच्चा आपके मूलाधार, श्रोणि और पूरी योनी के एरिया में दबाव लगाता है। इस समय आपके डॉक्टर बच्चे को आने के लिए मूलाधार के फैलाव की कोशिश करते हैं। लेकिन अगर आपका बच्चा सिजेरियन से हुआ है तो आपकी योनी पर कम से कम असर पड़ता है।

चाहे आपकी प्रेगेनेंस कैसी भी रही हो पर आपके डॉक्टर आपको बच्चे को जन्म देने के बाद सेक्स करने से पहले छह हफ्तों का इंतज़ार करने के लिए कहेंगे। हालांकि आपके डॉक्टर कभी-कभी इस समय से पहले आपको सेक्स करने के लिए हरी झंडी दे सकते हैं। बच्चे को जन्म देने के छह हफ्ते बाद तक आपको डॉक्टर से मिलना चाहिए और इस समय तक आपको न तो टैंपोन न कोई पैड लगाना चाहिए। ऐसा करने से आपकी योनी पर इन्फ़ैकशन का खतरा बढ़ सकता है।