अलग प्रकार से चलना और प्रसव दर्द के कुछ अन्य संकेत, जिनके बारे में आपको जानना चाहिए

Signs of labour

अगर आपकी प्रसव की डेट आने वाली है, तो बच्चे के आने के इन संकेतों का विशेष ध्यान रखें:

  • पानी की थैली का टूटना
  • दिल जलने में राहत मिलना
  • पीठ में दर्द होना
  • बलगम डाट का ढीला होना
  • निपल का बहना
  • दस्त
  • नीचे सूजन आना
  • टॉइलेट जाना एकदम से बढ़ना
  • तुरंत ऊर्जा से भरपूर लगे
  • अलग तरीके से चलना
  • जन्म से पहले गर्भाशय का सिकुड़ना

प्रसव दर्द आम तौर पर आराम से शुरू होता है, और फिर यह घंटों और दिनों में बड़ा होता है। अपने दिमाग में कुछ बातों का खयाल रखें, जिससे आपको पता चलेगा की क्या सही में यह प्रसव का दर्द है।

पानी की थैली का टूटना

प्रसव दर्द या जन्म देते हुए आपकी पानी की थैली कभी भी टूट सकती है, आपके डॉक्टर एम्नोइटिक थैली को खुद तोड़ सकते हैं, जिससे प्रसव शुरू हो सके। आपकी थैली प्रसव या जन्म के समय कभी भी टूट सकती है।

अगर आपकी थैली टूटे तो अपने डॉक्टर को कॉल करें। इसके टूटते ही आपको इन्फ़ैकशन होने के खतरा होता है, इसी वजह से आपका डॉक्टर आपको प्रसव विभाग या सर्जरी के लिए भेज सकता है। डॉक्टर द्रव के बारे में भी जांच करेगा: इसको पयाल की तरह होना चाहिए और इसकी गंध मर्म होती है। अगर द्रव हरा है मतलब आपके बच्चे ने अपनी आंत को खाली कर दिया है, जो कठनाई के संकेत हैं।

सीने की जलन से आराम

जैसे ही आपका पेट बढ़ता है वैसे आपका बच्चा आपके पेट को ऊपर की तरफ ढकेलता है। इससे एसिड आपके पेट में जाता है और फिर वहाँ से आपकी स्वाश नली में, जिससे जलन होती है। अच्छी बात ये है की आपकी प्रसव डेट के पास आने के साथ आप देख सकती हैं की आपकी यह जलन कम होती है। इसका मतलब है की बच्चा आपके कूल्हों के बीच चला गया है, और अब जन्म लेने को तैयार है।

आपको सांस लेने में भी कोई दिक्कत नहीं होगी, क्योंकि बच्चा अब आपके फेफड़ों को ढकेल नहीं रहा है, और इससे आपके फेफड़ों की क्षमता भी कम नहीं होती।

पीठ का दर्द

आपकी कमर के नीचे जब दर्द हो तो इसका मतलब है की बच्चा प्रसव के लिए सही अवस्था में आ रहा है। कभी-कभी ये कुछ दिन ले सकता है और काफी दर्दभरा होता है। इसका मतलब है की आपके गर्भाशय का सुकुड़ना भी शुरू होने वाला है- कुछ महिला अपने पेट के जगह पीठ में ज़्यादा दर्द महसूस करती हैं।

दर्द को अपने पाँव खड़े करके थोड़ा कम करें, अपने पार्टनर से पीठ मसलने को बोलें, या गर्म पानी से नहाएँ।

बलगम डाट का ढीला होना

बलगम डाट आपकी प्रेगनेंसी में आपकी गर्भाशय ग्रीवा को ढककर रखती है और प्रसव शुरू होने के कुछ दिनों पहले यह ढीला होना शुरू हो सकती है। एक भूरा, लाल सा, या गुलाबी जेली जैसा पदार्थ या तो एक साथ बाहर आता है या धीरे-धीरे। अगर बाहर निकलने वाले पदार्थ का रंग हल्का लाल है या यह गाढ़ा होता दिख रहा है तो सीधे हॉस्पिटल जाएँ।

निपल का बहना

ऐसा नहीं है की दूध पिलाते हुए आपके निपल बहते हैं- आपके निपल आखरी तिमाही में भी बह सकते हैं। बच्चे के पैदा होने से पहले कुछ हफ्तों में आप इसको कुछ ज़्यादा देख सकते हैं। निपल से आने वाला दूध खीस होता है, पोषक तत्वों से भरा लिकुइड जो जन्म देने के कुछ दिनों बाद तक अच्छा दूध ना आजाने तक आपके बच्चे को पोषण देगा।

अगर आपको अपने कपड़ों पर गीले धब्बे दिखाई दे रहे हैं तो ब्रेस्ट पैड खरीदिए और उहे अपनी ब्रा के बीच लगा दीजिए।

दस्त

जो हार्मोन आपके गर्भाशय को सिकुड़ने में मदद करते हैं उनकी वजह से आपको जन्म देने से पहले दस्त हो सकते हैं। अगर ऐसा होता है तो पानी वाली चीज़ें ज़्यादा लें और मीठे द्रव या दूध पीने से बचें। चावल खाने की कोशिस करें, इससे आपकी एनर्जी बनी रहेगी।

नीचे की तरफ सूजन

प्रेगनेंसी में आपको कई जगह सूजन हो सकती है, इसमें योनी का एक भाग भी शामिल हो सकता है।

सुनने में यह काफी अजीब लगे लेकिन ऐसा होना बिलकुल नॉर्मल है। ऐसा आपके खून के गाढ़ा होने की वजह से होता है। जब बच्चा कोख में नीचे की तरफ आता है, आमतौर पर 37वें हफ्ते के बाद, तो यह योनी पर अधिक दबाव बनाता है, जिससे सूजन हो जाती है। आप एक कपड़े में बर्फ भरकर इसको सूजन पर लगा सकती हैं, इससे आपको आराम मिलेगा।

लगातार टॉइलेट जाना

बढ़ता हुआ बच्चा आपके मूत्राशय पर दबाव बनाता है, इसलिए बार-बार टॉइलेट जाना ज़रूरी हो जाता है। लेकिन आखरी हफ्ते में यह और बढ़ सकता है, क्योंकि बच्चा बाहर आने के लिए तैयार है। यह शायद प्रसव का सबसे चिढ़ाने वाला समय है।

इस समय पानी पीना बंद ना करें। अभी कॉफी, बाकी गैस वाली चीज़ें ना लें, क्योंकि इनसे मूत्राशय पर दर्द होता है।

एक दम से ऊर्जापूर्ण लगना

अगर आखरी तिमाही में सोफ़े से उठना ही आपके लिए एक बड़ा काम था, और डिलिवरी से पहले एक दम से काफी एनर्जी महसूस करना आपके लिए एक सुखद अनुभव हो सकता है। इसका फायदा उठाएँ, और घर को बच्चे के लिए तैयार रखें।

अलग तरीके से चलना

अगर आपने J आकार में चलना शुरू कर दिया है तो इसका मतलब हो सकता है की बच्चा जल्द आने वाला है। कोख बच्चे के लिए चौड़ी होनी शुरू हो जाती है, जिससे चलने के तरीके पर असर पड़ता है।

गर्भाशय का सिकुड़ना

जब आपको दर्दरहित, छोटे और सिकुड़ने जैसे अहसास हो इसका मतलब है की आपका गर्भाशय बच्चा पैदा करने के लिए तैयार है। शुरुआत में यह सिकुड़न कमजोर होती है, ऐसा लगता है जैसे यह पीरियड का दर्द हो, फिर यह कई बार और ज़्यादा दर्द के साथ आते हैं। प्रसव तभी समझा जाता है जब आपको 10 मिनट के गैप में तीन एक मिनट की जकड़न/सिकुड़न हुई हो। जब यह काफी गहन हो जाए, और आप बात करने में असुविधा महसूस करें तो यह हॉस्पिटल जाने का समय है।

अगर आपको प्रसव के यह सब संकेत दिखाई दें तो अपने डॉक्टर से तुरंत संपर्क करें।