एक माँ ने अपने ही सिजेरियन में डॉक्टर की मदद करी

maternal assisted c-section

जैसा हम प्लेन करते हैं बच्चे को जन्म देना हमेशा वैसा नहीं जाता। लेकिन एक माँ ने दिखा दिया है की दृण निश्चय से कुछ भी हो सकता है।

क्वीन्सलैंड, ऑस्ट्रेलिया की रहने वाली साराह टोयर ने कुछ चौंकाने वाला काम किया। इस महिला ने अपने सी-सेक्शन में डॉक्टर की मदद करने का निर्णय लिया। साराह ने सच में अपने बच्चे को ढूँढने और उसे कोख से बाहर निकालने में डॉक्टर की मदद की।

ऐसा नहीं है की ये पहली बार हुआ हो। पिछले साल एली हुड नाम की साउथ ऑस्ट्रेलियन महिला ने भी यही काम किया था।

कैसे बच्चे को जन्म देने की तैयारी करें?

  • जिस प्रकार का जन्म आप चाहती हैं उसपर ही चलें
  • तीन अलग-अलग जन्म की योजनाएँ बनाएँ
  • आपकी मेडिकल जरूरतों के लिए एक प्लेन
  • आपके लिए एक जन्म प्लेन
  • आपके पार्टनर के लिए एक जन्म प्लेन
  • जन्म प्लेन यानी बर्थ प्लेन कब लिखें

आपको इस प्लेन को 32वे हफ्ते के आस-पास से सोचना शुरू कर देना चाहिए। इससे आपको कई विकल्प के बारे में सोचने और कई सवाल पूछने के मौके पहले से ही मिलेंगे।

पर्फेक्ट बर्थ सेटिंग क्या होनी चाहिए?

अपनी सोच से इस बारे में कोई निर्णय लें। सोचने से आप अपने अनुभव को भावनाओं के साथ जोड़ सकती हैं। यह सोचें की आप प्रसव में हैं और सोचें की आप इस समय काफी अच्छी हैं और पूरे आत्मविश्वास में हैं। फिर देखें की आपके आस-पास क्या हो रहा है। इसको आप अपने प्लेन में डालें।

दर्द निवारक यानी पेन रिलीफ़ के बारे में सोचें

सोच लें की क्या आप जन्म नैचुरल तरीके से देना चाहती हैं या कई दर्द निवारक के बारे में सोच सकती हैं। इसके बारे में अपना दिमाग खुला रखें।

सी-सेक्शन के बारे में सोचें

भारत में 20% बच्चे सी-सेक्शन से पैदा होते हैं, हालांकि ये आपकी लिस्ट में सबसे ऊपर नहीं होगा, पर इसके बारे में जानना भी एक ज़रूरी बात है। सोचें की क्या आपको स्पाइनल ब्लॉक पसंद आएगा या एनेस्तेसिया।

अपने पार्टनर के लिए एक छोटा से प्लेन लिखें

आप शायद अपने पति के लिए भी इस समय एक छोटा सा प्लेन लिखना चाहेंगी, आपको उन्हे बताना है की इस समय किन चीजों को हॉस्पिटल लाना है। हमारी तरफ से सलाह है की आपको हॉस्पिटल में ज़्यादा एनर्जि वाले स्नैक, ड्रिंक, किताब और पूरी तरह से चार्ज फोन ले जाना है।

प्रसव की आखरी स्टेज

जब गर्भनाल आती है तो कई हॉस्पिटल में तीसरी स्टेज में जल्दी जाने के लिए एक इंजेक्शन दिया जाता है। अगर आपको बच्चा नैचुरल तरीके से पैदा करना है तो इसको भी अपने बर्थ प्लेन में डालें।

जन्म देने के बाद

बर्थ प्लेन यानी जन्म से जुड़ा प्लेन मात्र प्रसव के लिए नहीं है। इसमें इस बात को भी समाहित किया जाता है की बच्चे के पैदा होने के बाद वाले कुछ कीमती मिनट आप किस तरह से बिताएँगी। आप बच्चे के लिंग का खुद पता लगाना चाहेंगी, या आप चाहेंगी की कोई आपको इसके बारे में बताए। आप चाहती हैं की आपका बच्चा साफ होकर आपके पास आए या बिना साफ हुए। ये सब अपने बर्थ प्लेन में लिखें।