समझ नहीं आ रहा अपने बॉस को प्रेगनेंसी की खबर कैसे देनी है? इन 5 तरीकों से आपकी दुविधा कम हो सकती है

दुनिया में कुछ ऐसी बातें होती हैं जिनके बारे में आसानी से बात करना उतना सहज नहीं होता, और इन्ही बातों में सबसे बड़ी चुनौती है अपने बॉस को प्रेगनेंसी के बारे में बताना।

1.सबसे पहले अपने बॉस को ही खबर दें

आपके ऑफिस में कई दोस्त हो सकते हैं, लेकिन इसका ये मतलब नहीं है कि आप अपने बॉस से पहले अपनी प्रेगनेंसी कि खबर को सबको बताएं। आपको इस बात कि टेंशन हो सकती है कि आपके बॉस या आपके सहकर्मी आपकी इस न्यूज़ पर कैसी प्रतिक्रिया देंगे। इसलिए आपको सबको ये न्यूज़ खुद जाकर बतानी चाहिए, ताकि उनकी प्रतिक्रिया नियंत्रण में रहे। यदि आप सबकुछ समय से बताती हैं तो इससे आपके बॉस को आपके लिए प्लैनिंग करने या आपके बारे में सोचने के लिए काफी समय मिल सकता है। आप सोश्ल मीडिया पर भी कम ही चीज़ें शेयर करें, ये आपके लिए अच्छा है, हो सके तो कम से कम लोगों को ही टार्गेट करें, यदि खबर आपकी प्रेगनेंसी से जुड़ी है तो।

2.सही समय का इंतज़ार

पहली तिमाही के अंत और दूसरी के शुरुआत में आप ये खबर सबको बता सकती हैं। इस समय आपके गर्भपात होने के खतरा भी कम रहता है, और इस समय आपका शरीर भी थोड़ा मोटा दिखना शुरू हो जाता है। यदि आपको लगता है कि आपके बॉस को बताने से कुछ गलत हो सकता है तो अपनी कंपनी कि पॉलिसी को पहले पढ़ लें और फिर उन्हें बताएं, वैसे आजकल किसी भी कंपनी को गर्भवती महिला को मातृत्व अवकाश देना ही पड़ता है।

3.अपने अधिकारों को जानें

क्या आपको पता है कि मातृत्व लाभ(संशोधन) अधिनियम 2016 के अनुसार अब आपके अवकाश को 12 हफ्ते से बढ़ाके 26 हफ्ते कर दिया गया है? इसी नियम के अंतर्गत आपकी कंपनी को आपको ये जानकारी देनी होगी। चाहे वो ईमेल हो या हाथ से लिखा हुआ।

4.काम कि बात करें

आप बस मुद्दे पर ही रहें। खबर देते हुए ये बात ना करें कि आप कबसे छुट्टी पर जा रही हैं, या आप फिर से जॉइन करेंगी। इससे आपको फालतू कि टेंशन नहीं होगी। आपको ये भी देखना है कि आपकी कितनी जानकारी किसके पास कितनी मात्रा में जाती है। आपको काम कि जगह पर कम से कम ही बात बतानी चाहिए। खबर बताने के बाद आपको अपने बॉस को मेल भी भेजना है। हो सके तो एक लिखित एप्लिकेशन भेज दें।

5.खुद पर संयम रखें

काम करने वाली माँ के बारे में आमतौर पर कहा जाता है कि वो अपने काम के लिए ज़्यादा गंभीर नहीं है, या वो अपने बच्चों पर सही प्रकार से ध्यान नहीं दे सकती हैं। आपको इन किसी भी चीज़ का ज़्यादा खयाल नहीं रखना है, और अपने काम और बच्चे पर ध्यान देना है। बाकी सब अपने आप सही हो जाएगा।

अगर आप को डर लग रहा है तो इसे लोगों को ना दिखाएँ। ऑफिस में लोग कई प्रकार कि बातें बनाते हैं, इसलिए इसके बारे में ज़्यादा ना सोचें। आपको बस खुद पर विश्वास रखना है, और अपना सर ऊंचा। आप इस समय वो बातें सीखेंगी जो आपको बाकी से अलग बना सकती हैं, जैसे टाइम मैनेजमेंट। ऐसी लोगों से बात करें जो पहले इस स्थिति से गुज़र चुके हों।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।