प्रेगनेंसी में इन्फ़ैकशन से कैसे बचा जाए?

Infections during pregnancy

प्रेगनेंसी में आपका शरीर आम समय से ज़्यादा संवेदनशील होता है। इसलिए प्रेगनेंट महिलाओं को वाइरस या बैक्टीरिया से जुड़ी समस्या ज़्यादा होने का खतरा रहता है। ज़्यादातर जब माँ को इन्फ़ैकशन होता है तब बच्चे को नुकसान नहीं होता है, पर किसी केस में इन्फ़ैकशन आपकी गर्भनाल से होकर बच्चे को जा सकता है। ये इन्फ़ैकशन की गंभीरता पर निर्भर करता है। इनमें से कुछ को उपचार की ज़रूरत नहीं होती है, लेकर अगर कंडिशन सिरियस हो गई तो आपको मेडिकल सहायता लेनी पड़ सकती है।

प्रेगनेंसी में आपके शरीर में जो हार्मोनल बदलाव होते हैं उसकी वजह से आपको इन्फ़ैकशन होने का खतरा भी ज़्यादा रहता है। आपका प्रतिरोधक तंत्र भी बदल सकता है, क्योंकि ये आपकी सभी प्रकार के इन्फ़ैकशन से बचाव करता है। कुछ इन्फ़ैकशन आपको ज़्यादा बीमार कर सकते हैं, और इससे आपके बच्चे का समय से पूर्व जन्म हो सकता है।

निम्न इन्फ़ैकशन आपको प्रेगनेंसी में दिक्कत दे सकते हैं

एचआईवी

ग्रुप बी स्ट्रेप्टोकोकस

चेचक

ज़ीका वाइरस

यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फ़ैकशन

खसरा

हेपेटाइटस बी

टोक्सोप्लेसमोसिस

डेंगू बुखार

माँ को इससे क्या फर्क पड़ता है?

कुछ इन्फ़ैकशन केवल माँ को असर डालते हैं और इनका उपचार भी किया जा सकता है, हालांकि प्रेगनेंसी में किसी भी इन्फ़ैकशन का सामना करना थोड़ा मुश्किल हो जाता है, क्योंकि आपका शरीर पहले ही काफी बदलाव से गुज़रता है।

बच्चे को इससे क्या होता है?

टोक्सोप्लेसमोसिस जैसे इन्फ़ैकशन से आपकी प्रेगनेंसी को काफी गंभीर समस्या हो सकती है क्योंकि इससे आपके बच्चे को भी असर पड़ता है। हालांकि इसके भी उपचार हैं पर इससे आपके बच्चे पर असर पड़ सकता है, या तो उसका जन्म समय से पूर्व हो सकता है या गर्भपात भी हो सकता है।

कैसे इससे बचें?

आपको प्रेगनेंसी में इनसे बचने के लिए बस सावधान रहना है। आपको बच्चे की अच्छी ग्रोथ के लिए अपना खयाल रखने की ज़रूरत होती है। नीचे दिए हुए कुछ तरीके हैं:

अपना आहार स्वस्थ रखें। इस समय कच्चा या कम पका हुआ न खाएं। आपका खाना इस समय पूरा पका हुआ होना चाहिए।

खाने से पहले और बाद में अपने हाथ धो लें व टॉइलेट जाने के बाद भी हाथ धोएँ।

आपके बर्तन इस समय काफी साफ होने चाहिए व इस समय अपने बर्तन किसी के साथ शेयर ना करें।

सभी प्रकार के टीके लेते रहें

इस समय किसी भी जानवर का मल साफ ना करें, खासकर बिल्ली के मल से दूर ही रहें।