प्रेगनेंसी में जननांग में दाद होना

Genital herpes

जननांग में दाद होना सेक्स से होने वाली बीमारी है, या कह सकते हैं की ये बीमारी आपको संभोग करते हुए होती है, इसमें आपको दर्द और खुजली होती है। ये आपको दो प्रकार के वाइरस से हो सकती है एक एचएसवी-1 और दूसरा एचएसवी-2 से।  

एचएसवी-1 आपको मौखिक दाद दे सकता है, मतलब आपको आपको मुंह के पास दाद हो सकता है। एचएसवी-2 से आपको जननांग में दाद होता है, इसमें आपको काफी खुजली हो सकती है।

जननांग का दाद आपको निम्न चीज़ से फैल सकता है:

मौखिक सेक्स से, वो भी उस इंसान के द्वारा जिसे खुद मुंह के पास दाद हो

सेक्स के द्वारा

किसी संक्रमित इंसान के टच होने पर

यदि आपने किसी चीज़ को टच किया है, जो संक्रमित इंसान के संपर्क में रही हो

लक्षण

ये वाइरस हमेशा एक्टिव नहीं रहता है, इसलिए जिनको जननांग में दाद होता है उन्हें कम ही इसका पता चलता है या उन्हें कम लक्षण दिखाई देते हैं। ये लक्षण अलग-अलग प्रकार के हो सकते हैं।

जिन लोगों को ये पहली बार होता है उनके अंदर इसके लक्षण शायद कई महीने बाद दिखाई दें। इसलिए शायद उन्हें काफी समय तक पता ही नहीं चले की उनके शरीर में ये वाइरस हो सकता है। दूसरे लोगों को ये एक दम से दिख सकता है। कई लोगों को दर्द हो सकता है और खुजली हो सकती है वहीं कुछ लोगों को कम या कोई लक्षण नहीं दिखते हैं।

नीचे दिए गए लक्षण सबसे आम हैं:

लाल दाने होना, बाद में इनमें खुजली होती है

जलन के साथ छोटे-छोटे दाने होना

पेशाब करते हुए जलन होना

बच्चे पर इसका असर

अगर आपको प्रेगनेंसी से पहले दाद हुआ है तो इस बात की संभावना कम है की आपके बच्चे को इस समय ये इन्फ़ैकशन हो सकता है। अगर आपको दाद प्रेगनेंसी के 28 हफ्तों बाद होता है तो आपके बच्चे की रक्षा आपके द्वारा बनाए गए एंटीबॉडी से हो जाती है। अगर आपको डिलिवरी के कुछ दिनों पहले ही दाद हुआ है तो इससे आपके बच्चे को असर पड़ सकता है, इस समय आपके शरीर की एंटीबॉडी से कोई मदद नहीं होती है।

आपके बच्चे को आँख, त्वचा और मुंह में इन्फ़ैकशन होता है और किसी केस में आपके बच्चे के केन्द्रीय तंत्रिका तंत्र पर असर पड़ सकता है।

उपचार

दाद के लिए अलग से कोई उपचार नहीं है पर लेकिन दवाई से इसके लक्षण कम हो सकते हैं और ये बाकी लोगों को नहीं होगा।

बचाव

दाद के लिए कह सकते हैं इसमें बचाव ही सबसे बड़ा उपचार है। आप बाकी सेक्स से होने वाली बीमारी की तरह इससे भी से न करके बच सकते हैं। अगर आपके पार्टनर को इससे असर पड़ चुका है तो आपको इस समय कोंडोम का इस्तेमाल करना चाहिए।

अगर आपको प्रेगनेंसी से पहले दाद की समस्या रही है तो आपको अपने डॉक्टर को इसके बारे में बताना चाहिए। आपको इस समय डॉक्टर दवाई दे सकते हैं, ताकि आपको फिर से ये न हो। अगर आपको डिलिवरी के समय ये दिक्कत हो गई तो आपको ऑपरेशन के द्वारा जल्द से जल्द डिलिवरी करने की सलाह दी जा सकती है, इससे आपके बच्चे को इन्फ़ैकशन होने का खतरा कम होगा।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।