प्रेगनेंसी में लिस्टेरिओसिस होना

Listeriosis during pregnancy

प्रेगनेंसी में आपको काफी ध्यान से खाना चाहिए, और इस बात का खयाल रखना चाहिए की आप कुछ ऐसा न खाएं जिससे आपको कोई बीमारी हो, या कह सकते हैं की आपको मिलावट से दूर रहना है। लिस्टेरिओसिस प्रेगनेंसी में काफी खतरनाक हो सकता है।

इस समय ये इन्फ़ैकशन पाना काफी खतरनाक हो सकता है क्योंकि इससे आपको और आपके बच्चे को दिक्कत हो सकती है। आपकी डिलिवरी समय से पूर्व भी हो सकती है, आपका बच्चा इन्फ़ैकशन के साथ पैदा हो सकता है, इससे आपको गर्भपात भी हो सकता है।

लक्षण

थोड़ा सा फ्लू

जी मिचलना या उल्टी

सर में दर्द या मसल में दर्द होना

बुखार

अगर आपके तंत्रिका तंत्र पर इसका असर पड़ता है तो आपको चक्कर आ सकते हैं या आपको गर्दन में अकड़ हो सकती है।

कारण

लिस्टेरिओसिस आपको तब होता है जब आपके अंदर लिसटेरिया मोनोसाइटोजिन नाम का वाइरस आ जाता है, ये वाइरस मिट्टी और पानी में पाया जाता है। ये सब्जी में मिट्टी से जाते हैं। जो जानवर इन फलों के खाते हैं उनको इससे असर पड़ता है। इसलिए आपके लिए बिना उबला या बिना पकी सब्जी लेना सही नहीं है, इससे आपको ये संक्रमण हो सकता है। पकाने या पश्चुरिकरण से आमतौर पर इसका बैक्टीरिया मर जाता है, किसी केस में ये वाइरस पकाने के बाद भी नहीं मारता।

लिस्टेरिओसिस का इलाज़

इसका इलाज़ एंटीबायोटिक्स से हो सकता है। इससे आपके बच्चे को ये वाइरस संक्रमित नहीं कर सकता।

बचाव

आपको पकी हुई सब्जी ही खानी है, इससे ये बैक्टीरिया मर जाता है।

बचे हुए खाने से भी आपको ये संक्रमण हो सकता है। वैसे फ्रिज से इस पर कोई असर नहीं पड़ता है। इसलिए आपको फ्रिज से निकला खाना फिर से पकाना चाहिए।

आपको पश्चुरीकृत दूध ही पीना है, क्योंकि ऐसा नहीं करने पर आपको संक्रमित गाय से ये वाइरस हो सकता है।

आपको खाने से पहले सभी सब्जी और फल सही से धोने चाहिए।

आपको गली-कूचे के खाने से बचना चाहिए

अपने खाने और फ्रिज को हमेशा साफ रखें। अपने बर्तन को गर्म पानी से धोएँ और अपने कपड़ों को भी समय समय से धोएँ।

लिसटेरिया वो बैक्टीरिया है जो गर्म माहौल में भी पनप सकता है, इसलिए कभी कभी ये दिक्कत दे सकते हैं। लेकिन आप ऊपर दिए गए सुझाव के साथ इंजेक्शन से भी इससे बच सकते हैं।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।