प्रेगनेंसी में पाँव के दर्द को सही करने के 3 तरीके

Restless Leg Syndrome during pregnancy

प्रेगनेंसी में पाँव में दर्द होने से कई महिलाओं को दिक्कत होती है, ये काफी बुरा अनुभव है। इसमें महिलाओं को पैर में हर जगह दर्द होता है। इससे गर्भवती महिलाओं की रात की नींद भी उड़ जाती है।

ऐसा हार्मोनल बदलाव और आइरन की कमी की वजह से होता है। डॉक्टर के पास जाने की जगह कई महिलाएं अपने पाँव में खिंचाव करती हैं या मसाज करवाती हैं। हालांकि स्थिति खराब होने पर आपको डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए।

ऐसा होना काफी आम है। लगभग 16% महिलाओं को इस समस्या का सामना करना पड़ता है। आपको इस दिक्कत से बचने के लिए लगातार अपने खाने पर ध्यान देना पड़ता है, इस समय आपको अहम विटामिन और अच्छा खाना खाना लेना पड़ता है, आपको इस समय तंबाकू या शराब से भी दूर रहना चाहिए। एक्सर्साइज़ करने और बीच-बीच में नहाने से भी आपका दर्द सही रहता है।

इस समय आपको जलने, या चुभन भी हो सकती है। ये दर्द वैसे शाम या रात के समय कुछ ज़्यादा ही होता है। ये दर्द आपके नीचे की हिस्से में कुछ ज़्यादा ही होता है।

कैसे इस दर्द का सामना करें?

एक्सर्साइज़ करें

कई महिलाओं के लिए नियमित रूप से एक्सर्साइज़ करने से उनकी प्रेगनेंसी आसान रहती है। इससे आपमें ऊर्जा का संचार होता है। आप सुबह के समय टहलने जा सकती हैं या आप सोने से पहले उठक बैठक कर सकती हैं। इससे आपको काफी मदद मिलेगी।

योगा करना

रात में दर्द को झेलने से अच्छा है की आप दिन के समय थोड़ा सा योगा कर लें। 15 से 20 मिनट ऐसा करने से आपको काफी मदद मिलेगी। इस समय आप मसल का खिंचाव कर सकते हैं, इससे आपके अंदर खून का संचार अच्छे से होता है। आप योगा सुबह या सोने से पहले भी कर सकती हैं।

रिलेक्स करना

रिलेक्स करने से हमारा मतलब है एक जगह बैठकर बिना किसी चिंता के कुछ अच्छी चीजों के बारे में सोचना। इस समय किसी भी नकारात्मक चीजों के बारे में ना सोचें। आँख बंद करके लंबी साँसे लें। इस समय आराम से दस तक गिनती गिनें, और इस दौरान खुदको महसूस करें। ऐसा लगातार करने से आपको रात में अच्छी नींद आएगी।

अच्छे आहार और एक्सर्साइज़ से प्रेगनेंसी का सफर काफी आसान बन सकता है।