ये 5 लक्षण बवासीर के संकेत हो सकते हैं

Piles during pregnancy

ये वह अवस्था होती है जब आपकी रक्त वाहिकाएँ जो आपके निचले मलाशय से जुड़ी होती हैं सूज जाती हैं और वहाँ जलन होती है। अगर आपने इसको गंभीरता से नहीं लिया और इसकी जांच नहीं कारवाई तो स्थिति काफी खराब हो सकती है और आपके मल से खून आ सकता है।

प्रेगनेंसी में बवासीर क्यों होता है?

आपको प्रेगनेंसी में बवासीर होना का खतरा होता है, क्योंकि इस समय खून मोटा होता है, और आपके अंदर प्रोजेस्ट्रोन नाम के हार्मोन्स में बढ़ाव होता है। प्रोजेस्ट्रोन की वजह से खून वाहिकाओं की दीवार रिलेक्स होती हैं। इसी वजह से प्रोजेस्ट्रोन के बढ्ने की वजह से खून वाहिकाएँ आसानी से सूज जाती हैं, और इसी वजह से बवासीर हो जाता है। साथी ही बढ़े हुए बच्चे की वजह से आपकी श्रोणि की नसों पर दबाव पड़ता है, जिससे वाहिकाओं की सूजन बढ़ती है। दूसरा कारण कब्ज़ भी हो सकते हैं। इसकी वजह से भी आपका मल सही प्रकार से नहीं निकल पाता और आपको खून निकल सकता है, पहले ही सूजी ही वाहिकाएँ इतना दबाव नहीं सह सकती और फिर परिणाम के रूप में आपको अपने मल में खून निकलता दिखाई देता है। आपको इसका जल्दी उपचार करना चाहिए।

लक्षण

मल में खून निकलना

मल वाली जगह पर खुजली होना

मल निकालने के बाद भी चिपचिपा द्रव निकलना

मल जाने के बाद भी ऐसा लगना की आपको पेट साफ करने की ज़रूरत है

बवासीर से बचाव

हालांकि प्रेगनेंसी में बवासीर/पाइल्स होना काफी आम है, फिर भी आप इससे बचने के लिए उपाय कर सकती हैं:

आपको अधिक फाइबर वाला खाना लेना है, जिसमें व्होलग्रेन ब्रेड, सेरियल, भूरा चावल, और कच्चे फल-सब्जी की खुराक शामिल है

आपको दिन में काफी मात्रा में पानी और अन्य पेय-पदार्थ लेने चाहिए, इससे आपके अंदर पानी की कमी नहीं होगी।

आपको हर दिन एक्सर्साइज़ करनी है, इससे आपके अंदर खून का संचार भी सही रहेगा।

अगर आपको मल त्यागने का मन कर रहा है तो आपको ज़्यादा इंतज़ार नहीं करना चाहिए और पेशाब करते हुए आपको ज़्यादा प्रैशर नहीं लगाना है।

पाइल्स का इलाज़

वैसे आमतौर पर पाइल्स में दर्द नहीं होता है, पर इसमें थोड़ी दिक्कत तो होती ही है। इसलिए अगर आपको ऊपर दिए गए कोई भी लक्षण दिखाई दें तो आपको नीचे दिए गए कदम उठाने चाहिए:

थोडी दिक्कत कम करने के लिए आपको बर्फ के पानी में भीगा हुआ कपड़ा पहनना चाहिए

हमेशा पानी से सफाई करें

वैसे पाइल्स से आपके बच्चे पर कोई असर नहीं पड़ता है, इसलिए आपको ज़्यादा चिंता नहीं करनी है। साथ ही आपको ये भी बताना चाहेंगे की प्रेगनेंसी के बाद पाइल्स अपने आप चला जाता है। इसलिए आपको बस संतुलित आहार लेते रहना है, साथ ही काफी पानी लें, और दिन में थोडी एक्सर्साइज़ करें, ऊपर दिए गए सभी उपाय अपनाएं और इस समस्या से निजात पाएँ।

प्रेगनेंसी से जुड़ी और जानकारी के लिए हमारी एंगों हेल्थ एप यहाँ डाउनलोड करें।