प्रेगनेंसी में आँख सूख रही हैं? इससे बचने के 4 तरीके

Dry eyes syndrome

प्रेगनेंसी में आपके शरीर में काफी बदलाव होते हैं, और आपकी आँख भी इस बदलाव से नहीं बचती है। ड्राय आय सिंड्रोम या कहें की प्रेगनेंसी में आँख का सूखना काफी आम है, ये आम तौर पर पहली तिमाही के अंत में होता है। ये वैसे पूरी प्रेगनेंसी में ही रहती है और बच्चे के पैदा होने के बाद भी आपको ये दिक्कत दिख सकती है।

प्रेगनेंसी में हार्मोन्स में बदलाव की वजह से आपके अंदर मेल एंड्रोजन हार्मोन्स की कमी होती है, इससे आपकी आँख इससे आपकी आँख में आँसू नहीं रहते, और फिर आपकी आँख काफी सूख जाती है।

ये आपको दिक्कत दे सकती है, पर इससे आपको कोई नुकसान नहीं है। आपको नीचे दी गई चीज़ अनुभव हो सकती हैं:

आपकी आँखों का सुबह-सुबह चिपका हुआ होना

आपको धुंधला दिखना, वो भी तब जब आप पालक झपकाती हैं

लाल या आँख में दर्द होना

आपकी आँख इस समय काफी संवेदनशील होती हैं इसलिए आपको आँख में मेक-अप करने में भी दिक्कत हो सकती है, आपको बार-बार अपनी आँख को रगड़ने का मन करेगा। आपको इस समय कांटैक्ट लेंस पहनने में भी दिक्कत आ सकती है।

आपके अंदर अगर पानी की कमी है तो ही आपकी आँख सूख सकती है। ये तब हो सकता है यदि आप उल्टी काफी कर रही हों। हो सके तो आपको इस समय काफी पेय-पदार्थ पीने हैं। अपने डॉक्टर से बात करें और पूछें की आप जी मिचलने की समस्या के साथ कैसे खाना और कुछ पी सकती हैं।

आप नीचे दी गई सलाह से मदद ले सकती हैं:

कम्प्युटर स्क्रीन पर काफी देर तक काम ना करें

आपको जहां काम करना है वहाँ थोड़ा नमी वाला माहौल होना चाहिए। अपनी डेस्क पर पेड़ रखें और उनमें पानी डालते रहें।

अपनी आँख को आप प्यार से साफ करें, और उनमें कुछ डालें।

अगर बाहर कुछ ज़्यादा ही गर्मी या मौसम सही नहीं है तो आपको धूप का चश्मा पहनना चाहिए।

आप इस विषय में आँख के डॉक्टर से भी मिल सकते हैं, आप इस समय कोई भी आँख की ड्रॉप न डालें तो ही आपके लिए अच्छा है।