प्रेगनेंसी के समय कुछ ज़्यादा ही लार निकलना

Excessive saliva during pregnancy

प्रेगनेंसी के समय ज़्यादा लार निकलना आम है?

जी हाँ, प्रेगनेंसी के समय ज़्यादा लार निकलना काफी आम है। ज़्यादा लार निकलने को कहते हैं सिओलोरिया या टियलिस्म और इससे आपके बच्चे पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

आमतौर पर आपकी 1 ½ क्वार्ट्स लार बनती है, लेकिन आप इसे महसूस नहीं करती क्योंकि आप इसे निगलते रहते हैं। अगर आपके मुंह में कुछ ज़्यादा ही लार हो तो इसका मतलब हो सकता है की आप ज़्यादा लार बना रही हों और कम निगल रही हों, या दोनों का मिश्रण।

कुछ महिलाएं जी मिचलने के समय महसूस करती हैं की वो कुछ ज़्यादा ही लार बनाती हैं। कुछ महिलाओं को इसे थूकने की ज़रूरत भी पड़ती है।

प्रेगनेंसी में अधिक लार क्यों बन रही है?

इन कारणों से ज़्यादा लार बन सकती है:

हार्मोनल बदलाव: अभी तक कोई भी विशेषज्ञ बता नहीं पाए हैं की गर्भकाल की शुरुआती अवधि में क्यों इतना लार बनता है, लेकिन हार्मोनल बदलाव इसकी वजह हो सकता है।

जी मिचलना: जी मिचलाने की वजह से कुछ महिलाओं को कम निगलने का मन करता है, और इसकी वजह से मुंह में काफी लार बन सकता है। जिन महिलाओं को ज़्यादा ही जी मिचलने की समस्या होती है उनमें ज़्यादा लार बनते हुए देखी गई है।

सीने में जलन: ज़्यादा लार बनने का सीने की जलन से काफी लेना-देना है, जो प्रेगनेंसी में काफी आम है। पेट में आपके एसिड होता है और पेट से ऊपर की तरफ वापिस आने पर ये आपकी ग्रसिका को परेशान कर सकते हैं। फिर ग्रसिका मुंह में और लार बनाती है। जैसे ही आप निगलती हैं वैसे ही आपके पेट में जलन होती है, और फिर वही प्रक्रिया दोहराई जाती है।

जलन: ज्वालक जैसे धुएँ से आपकी लार ज़्यादा बन सकती है, अन्य दाँत की समस्या की वजह से भी लार अधिक बन सकती है, कभी कभी किसी मेडिकल समस्या की वजह से आपमें लार ज़्यादा बन सकती है।

प्रेगनेंसी में कम लार निकले इसके लिए मैं क्या करूँ?

अपने डॉक्टर को बताएं की आपको काफी ज़्यादा लार निकलने की समस्या है, इससे आपके डॉक्टर को इस बात को देखने में आसानी होगी की आपको कोई और दिक्कत तो नहीं है। वैसे इस स्थिति में ज़्यादा कुछ नहीं किया जा सकता है पर कुछ महिलाओं के अनुसार नीचे दिए गए उपायों से उनको मदद हुई है।

दिन में दो बार ब्रश करें और कई बार माउथफ्रेशनर का इतेमाल करें।

दिन में कई बार थोड़ा-थोड़ा खाना खाएं, और स्टार्च वाला खाना कम से कम खाएं।

दिन में काफी पानी लें। अपने हाथ में पानी की बोतल तैयार रखें, और कई बार घूंट-घूंट करकर पानी लें। इससे आपमें पानी की कमी नहीं होती है।

ज़्यादा निकलने वाली लार को ज़्यादा से ज़्यादा निगल लें। इस समय आप सख्त टॉफी लें, और बिना शुगर वाली च्विंग गम भी लें। ऐसा नहीं होगा की इससे आपमें कम लार बनेगी, पर आपको उसे निगलने में उतना बुरा नहीं लगेगा।

अगर आपको अपनी लार निगलने में उल्टी जैसा लगता है तो हो सके तो आप इसे बार-बार थूकते रहें।

कई महिलाओं ने ये भी बताया है की अधिक लार बनने की ये समस्या पहली तिमाही में अंत में जी मिचलने की समस्या के जाने के साथ ही चली जाती है। हालांकि कुछ महिलाओं में ये समस्या पूरी प्रेगनेंसी में रहती है।