बार-बार पेशाब जाना यूटीआई के संकेत हो सकते हैं, बार-बार पेशाब जाने का कारण जानें

Frequent urination during pregnancy

लगातार पेशाब जाना प्रेगनेंसी के सबसे शुरू के संकेत हो सकते हैं। ये प्रेगनेंसी के हार्मोन्स की वजह से होता है, ऐसा आपके शरीर में खून के संचार के बढ़ने की वजह से भी होता है, और सबसे बड़ी वजह से आपका बढ़ता हुआ गर्भाशय।

सबसे खास कारण हैं:

आपका बढ़ता हुआ गर्भाशय: जब आपका गर्भाशय बड़ा होता है तो इससे आपकी मूत्र थैली पर प्रैशर बनता है, जिससे प्रेगनेंसी में आपको कई दिक्कत हो सकती हैं। लेकिन इस बारे में ज़्यादा चिंता ना करें, ये सब अपने आप डिलिवरी के बाद चला जाएगा।

हार्मोन्स में बदलाव: खून का संचार ज़्यादा होने से आपकी किडनी में खून का संचार भी ज़्यादा होता है, किडनी से आपकी मूत्र थैली भरती है, जिससे आपको बार-बार पेशाब जाने का मन करता है।

खून का घनत्व बढ़ना: प्रेगनेंसी में आपके शरीर में 50 प्रतिशत ज़्यादा खून का संचार होता है। इसका मतलब है की आपके शरीर में इस समय ज़्यादा द्रव बनता है।

इसके अलावा जैसे ही आपका बच्चा बढ़ता है वैसे ही वो आपकी थैली पर दबाव बनाता है और फिर आपको बार-बार पेशाब करने का मन करता है। ऐसा आमतौर पर पहली तिमाही में होता है, और दूसरी तिमाही में आपको काफी आराम मिलेगा। कुछ स्टडी के अनुसार प्रेगनेंसी के बढ़ने के साथ आपके अंदर पेशाब करने की इच्छा भी बढ़ जाती है, खासकर तब जब आपकी ये दूसरी प्रेगनेंसी हो।

इससे कैसे बचें?

अपनी थैली खाली करते रहें: आगे की ओर झुककर आप अपनी थैली खाली करें।

ज़्यादा देर तक इसे रोके नहीं: अपनी यूरिन को काफी देर तक रोकने से आपके शरीर और आपके बच्चे पर असर पड़ सकता है। काफी देर तक रोकने से आपको थैली में इन्फ़ैकशन हो सकता है।

ये पेय पदार्थ ना लें: ऐसा पेय पदार्थ ना लें जिससे आपको बार-बार पेशाब जाने का मन करे, जैसे कॉफी और चाय।

कुछ महिलाएं इस बात की शिकायत करती हैं की छींकते और हँसते हुए उन्हें पेशाब रिसती हुई स्थिति को झेलना पड़ता है। ऐसा आपके गर्भाशय के आपकी मूत्र थैली पर दबाव बनाने की वजह से होता है। श्रोणि की मसल कमजोर होने से आपको बार-बार पेशाब जाने का मन कर सकता है।

सबसे अच्छा बचाव है की आप अपनी थैली को कुछ ज़्यादा ही भरा ना रखें, और इस बीच बीच में खाली करते रहें। कीगल एक्सर्साइज़ करने से आपको मदद होती है। इससे आपकी श्रोणि की मसल सख्त होती है।

हमें पता है की रात में पेशाब करना आपके लिए थोड़ा मुश्किल हो सकता है। ऐसा होने से बचने के लिए रात में कम से कम पानी लें, और दिन में द्रव अधिक-अधिक से लें।

क्या लगातार पेशाब जाना कोई खतरे का संकेत है?

लगातार पेशाब जाने से आपको बैक्टीरिया वाल इन्फ़ैकशन हो सकता है, जिसे यूरिनरी ट्रेक्ट इन्फ़ैकशन कहते हैं। यूटीआई का अगर उपचार नहीं हुआ तो इससे आपको किडनी का इन्फ़ैकशन, या बच्चा समय से पूर्व पैदा हो सकता है। अगर आपको नीचे दिए गए कोई भी लक्षण हों तो डॉक्टर से बात करें:

पेशाब में खून

पेशाब में जलन

पेशाब करने का मन कर रहा हो और पेशाब ढंग से नहीं हो रही हो

वैसे भी बच्चा पैदा करने के बाद आपको उतना पेशाब के लिए नहीं जाना पड़ेगा जितना आप पहले जा रही थी। इस समय वैसे आपके शरीर से वो सभी द्रव निकलेंगे जो आपके पेट में नौ महीनों से थे।

लेकिन आपको बार-बार पेशाब जाने का मन नहीं करेगा। पेट में बच्चा आपकी मूत्र थैली पर दबाव डालता है, और जब बच्चा पेट से बाहर आ जाता है तो ये दबाव अपने आप खत्म हो जाता है। अगर आपको बच्चे को जन्म देने के बाद भी बार-बार पेशाब जाने का मन कर रहा है तो आपको कोई गंभीर समस्या हो सकती है, इस बारे में आप अपने डॉक्टर से हमेशा बात करें, वो आपको इससे जुड़ी कोई भी सबसे अच्छी सलाह दे पाएंगे।