क्या आपके काफी बाल झड़ रहे हैं? बेहतर है की आप प्रेगनेंट हो जाएँ!!

hair changes during pregnancy

गर्भावस्था के समय आपको अपने बाल घने लग सकते हैं, लेकिन आप उस समय शायद और ज़्यादा बाल नहीं बढ़ा रही हों(बाल और मोटे नहीं होते)। इस समय आपके बाल प्रेगनेंसी से पहले वाले समय की तरह तेज़ी से नहीं झड़ेंगे। सभी महिलाएं प्रेगनेंसी के दौरान बालों में कई प्रकार के बदलाव देखती हैं।

इस समय यह होता है: 85 से 95 प्रतिशत सर के बाल बढ़ते हैं। बाकी 5 से 15 प्रतिशत आराम करने की स्थिति में होते हैं। आराम करने की अवधि के बाद यह बाल आमतौर पर झड़ जाते हैं(खासकर तब जब आप बाल बना रही हों, या शैम्पू लगा रही हों) और इसकी जगह बढ़ते हुए बाल ले लेते हैं। आमतौर पर महिलाएं दिन में 100 बाल गिराती हैं।

प्रेगनेंसी के दौरान एस्ट्रोजन की बढ़ी मात्रा से बाल बढ़ने की अवधि बढ़ जाती है, इसकी वजह से कम बाल झड़ते हैं, और इनका मोटापा भी बढ़ता है। कई केस में देखा गया है की महिलाओं के बाल और ज़्यादा चमकने लगे या इनकी बनावट ही बदल जाती है, जैसे घुँघराले बाल सीधे हो जाते हैं।

आपके बाल बच्चा पैदा होने के बाद शायद उतने अच्छी नहीं दिखें। प्रसव के बाद बालों का बढ़ना पहले जैसे हो जाता है, जिसकी वजह से आपको बाल काफी झड़ते हुए दिखाई देंगे।

इतना कुछ कहने के बाद भी हम सलाह देंगे की सभी प्रेगनेंट महिलाएं अपने बालों में बच्चे को पैदा करने या उससे पहले कोई बड़ा बदलाव नहीं देखती हैं। जिन महिलाओं के लंबे बाल होते हैं उनके साथ यह होने की संभावना ज़्यादा रहती है।

क्या चेहरे और शरीर पर ज़्यादा बाल होना सामान्य है?

बुरी बात यह है की प्रेगनेंसी के दौरान आपके चेहरे और शरीर के बाल भी काफी तेज़ी से बढ़ सकते हैं, शायद ऐसा एंड्रोजन हार्मोन की मात्रा बढ़ने से होता है। इसी हार्मोन की वजह से प्रेगनेंसी के दौरान बालों पर फर्क पड़ता है।

अचानक बढ़े इन अनचाहे बालों से छुटकारा पाने के लिए आप इन्हे चिमटी से निकाल सकती हैं, शेव कर सकती हैं, और वैक्स कर सकती हैं। ब्लीच जैसे रसायन से बचें, यह आपके खून में त्वचा के छिद्रों के ज़रिए बैठ सकता है।

इस स्थिति में हमेशा के लिए बाल निकालने वाली तकनीक जैसे लेज़र, और इलेक्ट्रोलिसिस को सेफ माना जाता है। हालांकि जो हार्मोन प्रेगनेंसी के बाद चेहरे पर निशान छोड़ देता है, वो इन प्रॉडक्ट के इस्तेमाल के बाद आपकी त्वचा को और काला कर सकता है। ज़्यादातर इन चीज़ों को सेफ माना जाता है- लेकिन लेसर और इलेक्ट्रोलिसिस काफी दर्द वाली तकनीक हैं। प्रेगनेंसी में आपको पहले ही कई प्रकार के दर्द और असहजता होती है, इसमें और पीड़ा जोड़ने से क्या फायदा।

बच्चा पैदा करने के 3-6 महीने के बाद अनचाहे बाल अपने आप चले जाते हैं।