क्या आपको दूसरी तिमाही में हमेशा भूख लगती है? इसका सामना करने के पाँच तरीके

Hungry during second trimester of pregnancy

आपकी दूसरी तिमाही में आपके जी मिचलने की समस्या चली जाती है। लेकिन आपको इस समय काफी भूख लगती है। ये तब होता है जब आप 17 हफ्तों की प्रेगनेंट होती हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि इस समय आपके शरीर में पोषण की काफी ज़रूरत होती है, और ऐसा आपके बच्चे के बढ्ने की वजह से होता है। इससे आप पर और दबाव पड़ता है, और आपको ज़्यादा से ज़्यादा खाने की ज़रूरत पड़ती है।

आपको अपने बच्चे की आवाज़ सुननी है और उसकी ज़रूरत पूरी करनी है। अगर पहली तिमाही में जी मिचलने और उल्टी से आपका वज़न कम हो गया है तो ये बढ़ी भूख संकेत हो सकता है की आपका शरीर अब फिर से पहले जैसे होना चाहता है, आपको इस समय सब्जियाँ और फल खाने का भी मन करेगा। इस बात को याद रखें की आप अभी दो लोगों का खाना खा रही हैं और आपको अपने बच्चे के अच्छे विकास के लिए भी अच्छा खाना लेना है। इसके साथ आपको ये खयाल भी रखना है की आप इस समय कुछ ज़्यादा ही ना खा लें। इस समय आप कितनी कैलरी ले रही हैं इस बात पर भी नज़र रखें। कई महिलाओं को शुरु में 350 कैलरी और बाद में दूसरी तिमाही में पूरे दिन में 500 कैलरी की ज़रूरत होती है।

क्या किया जाए?

अच्छा खाना लें: आपको ध्यान रखना है की आपका पेट कभी भी खाली ना हो। आपको नियमित अंतराल पर खाना है और याद रखें की आप जो भी खाएं वो स्वस्थ हो। विटामिन ए और सी लेना आपके लिए काफी अहम है।

खाने को जाँचें: हमें पता है की आपको इस समय कुछ भी खाने का मन कर सकता है, लेकिन आपको ध्यान देना है की आपके लिए क्या अच्छा है।

अपने पास स्नैक्स रखें: आप कहीं बाहर जा रही हैं? ये कोई बड़ी बात नहीं है। इस समय अपने पास कुछ स्नैक्स रखें। इससे आपकी भूख अच्छी रहेगी, वहीं आपको पोषक पदार्थ भी मिलते रहेंगे।

अपना वज़न संभालें: अपने वज़न को देखते रहें। इस बात का ध्यान रखें की आप कुछ ज़्यादा ही वज़न ना बढ़ा लें, इससे आपको गर्भावस्था की डायब्टीस हो सकती है, और इससे आपको प्रीक्लेम्सिया हो सकता है। फिर इससे आपको प्रसव में दिक्कत हो सकती है। आपको इससे पाँव में खिंचाव, बवासीर, पीठ में दर्द, और शरीर में थकान लग सकती है। अगर आपका वज़न कुछ ज़्यादा ही तेज़ी से बढ़ रहा है तो अपने डॉक्टर से सलाह लें।

अपने को प्यार दें: कभी-कभी वो खाएं जो आपको खाने का मन करता है। आपको इस मेहनत के लिए कुछ अच्छा खाना तो मिलना चाहिए।

इस समय चुस्त रहें और एक्सर्साइज़ करें, आपकी प्रेगनेंसी मंगलमय हो।