प्रेगनेंसी में अनिंद्रा की समस्या

Insomnia during pregnancy

प्रेगनेंसी में आप कई वजह से अपनी नींद खो सकती हैं। वजह जो भी हो लेकिन आपको समझना चाहिए की नींद नहीं आने से आपके बच्चे पर कोई असर नहीं पड़ता है। ऐसा होना काफी आम है और इससे लगभग 78% गर्भवती महिलाएं प्रभावित होती हैं।

अनिंद्रा क्या है?

नींद ढंग से ना आने को ही अनिंद्रा कहते हैं। निम्न वजह से आपको नींद आने में समस्या हो सकती है।

सोने में शारीरिक कठिनाई होना

रात में लगातार चलना

नींद के लिए मन ना करना

ज़्यादा आरामवाली नींद नहीं

प्रेगनेंसी में अनिंद्रा क्यों होती है?

पेट के बढ्ने की वजह से आपको असुविधा होती है।

पीठ का दर्द

सीने में जलन

रात में बार-बार पेशाब के लिए जाना

तनाव

बच्चे के बार बार आने का डर

काफी गहन सपने

हार्मोन्स में बदलाव

आपको हम बताना चाहेंगे की प्रेगनेंसी में नींद ना आना कोई बड़ी बात नहीं है, और लगभग सभी महिलाओं को कभी-कभी ना कभी इसका शिकार होना पड़ता है। बच्चे के आने का भाव ही आपको बार-बार तनाव या खुशी आपकी नींद उड़ा सकती है। जिस प्रकार आपकी नींद प्रेगनेंसी में जाती है, उसी प्रकार बच्चे के पैदा होने के बाद आपकी नींद आ जाती है, हाँ वो बात अलग है की बच्चा आपको कभी सोने नहीं देना।

प्रेगनेंसी में अनिंद्रा की समस्या से कैसे लड़ा जाए?

सोने की नई मुद्रा ट्राय करें

सोने से पहले एक अच्छी मसाज लें, और खुदको को नहाके अच्छी नींद के लिए तैयार करें

अपने कमरे को आरामदायक बनाएँ। आप कमरे का तापमान भी अपने अनुसार कर सकती हैं, और आप एक मीठा का संगीत चलाकर अपने आपको को आनंद की अनुभूति दे सकते हैं।

आप इस समय रिलेक्स करने की तकनीक आजमा सकती हैं। ये तकनीक आपने अपने जन्म से पूर्व की क्लास में सीखी होंगी।

अगर आपको फिर भी नींद नहीं आए तो आप खड़ी उठ सकती हैं। आप उठाकर किताब पढ़ सकती हैं, या छोटा सा खाना खा सकती हैं, या गर्म दूध पी सकती हैं।

दिन के समय नियमित रूप से एक्सर्साइज़ करें।

अगर आपको दिन में सोने का अवसर मिल जाए तो आपको दिन में ही सो जाना चाहिए। हालांकि दिन में काफी लंबे समय के लिए सोने से आपकी रात की नींद पर असर पड़ सकता है। अगर फिर भी आपको अनिंद्रा की समस्या हो तो अपने डॉक्टर से बात करें। आपके डॉक्टर आपको इस समस्या को खत्म करने के लिए दवाई लिख सकते हैं।