प्रेगनेंसी में सूजन और द्रव इकट्ठा होना: कब ये चिंता का विषय बन जाता है?

Swelling & Fluid retention during pregnancy

प्रेगनेंसी में सूजन होना काफी आम है। आपके शरीर में इस समय काफी हार्मोनल बदलाव होते हैं और इस वजह से आपके खून का संचार काफी तेज़ हो जाता है, और फिर होती है सूजन। लगभग आधी प्रेगनेंट महिलाएं पाँव के पास प्रेगनेंसी के अंतिम समय में सूजन देखती हैं।

ज़्यादातर महिलाओं को एड़ी या पाँव में सूजन होती है। इस समय ज़्यादा देर के लिए खड़े ना हों, इससे आपका दर्द काफी बुरा हो सकता है। अगर ये स्थिति और खराब हो जाए तो आपको प्रीक्लेम्सिया होने का खतरा हो सकता है। इस स्थिति में आपकी प्रभावित जगह पर लाल निशान पढ़ते हैं, और वो एरिया थोड़ा पिलपिला हो जाता है, यहाँ खुजली भी हो सकती है। आपको हर जगह सूजन नहीं होगी, लेकिन अगर स्थिति ज़्यादा गंभीर होती हुए दिखे तो अपने डॉक्टर से तुरंत मिलें।

आप इन तरीकों से सूजन से बच सकती हैं:

अच्छा खाएं। अपने खाने में सब्जी और फलों का सेवन रखें, वो खाद्य पदार्थ जिसमें विटामिन सी अच्छी मात्रा में हो।

एक्सर्साइज़ करें

अपने अंदर पानी की कमी ना होने दें

गरम पानी की सिकाई करें

काफी देर तक खड़े होने से बचें

बीच-बीच में आराम करें

इस समय नमक और सोडियम का सेवन कम करें, क्योंकि इससे आपका ब्लड प्रैशर बढ़ता है।

पानी का भराव

इस बारे में आपको ज़्यादा चिंता नहीं करनी चाहिए, क्योंकि 80 प्रतिशत महिलाओं को ये दिक्कत होती है। एक नस जिसे वेना केवा कहते हैं इस समय आपके शरीर में काफी तेज़ी से काम करती है। इसका काम होता है दिल से खून आपकी पीठ में नीचे की ओर ले जाना। इस समय आपका गर्भाशय इस पर दबाव बनाता है और इसी कारण खून का संचार काफी बेकार होता है।

ये तब होता है जब एड़ी के पास के पाँव पर असर पड़ता है। हालांकि बाद की स्टेज में आप अपने हाथ में भी सूजन देख सकती हैं। हालांकि इसमें काफी दिक्कत होती है पर बच्चे के पैदा होने के बाद ये दिक्कत अपने आप चली जाती है। अगर ये स्थिति कुछ ज़्यादा ही बिगड़े तो आपको अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए।

उपचार

इससे बचने का सबसे अच्छा तरीका है पानी पीना। ज़्यादा नमक वाला खाना ना खाएं। ऐसा भी ना हो की आप नमक पूरी तरह से छोड़ दें।

जहां ये दिक्कत हो वहाँ ठंडे पानी की सिकाई करें और अपने फ्री समय में एक्सर्साइज़ करें। अपने डॉक्टर से पूछें की आपके लिए कौन सी एक्सर्साइज़ सबसे अच्छी है।

यदि आपकी उंगली या हाथ सूजते हैं तो अपनी उंगली से अंगूठी निकाल दें, इससे आपके खून के संचार पर असर पड़ सकता है।

अपने पाँव को आराम दें। काफी देर तक बैठने या खड़े होने से बचें।