प्रेगनेंसी के दौरान पाँव, और हाथ में सूजन आना

Edema during pregnancy

प्रेगनेंसी में मेरे पाँव और हाथ क्यों सूज रहे हैं?

आपके शरीर के ऊतक में ज़्यादा द्रव इकट्ठा होने की वजह से आपमें सूजन होती है। प्रेगनेंसी में थोड़ी सी सूजन होना काफी आम है, वो भी एड़ियों और पाँव में, ऐसा इसलिए है क्योंकि आप ज़्यादा से ज़्यादा पानी अपने अंदर रख रही हैं। खून में भी बदवाल की वजह से द्रव आपके ऊतक में चला जाता है।

आपके बढ़ते हुए गर्भाशय की वजह से आपकी श्रोणि की नसों पर दबाव पड़ता है और इससे उस नस पर भी दबाव पड़ता है जो पीछे से आपके हृदय तक खून ले जाती है। इस दबाव की वजह से खून आपके पाँव से काफी धीमी गति से वापस आता है, इससे आपके पाँव ऊतक के अंदर द्रव इकट्ठा होने लगता है।

इसलिए तीसरी तिमाही में आपको सबसे ज़्यादा सूजन होने का खतरा रहता है। यह उन महिलाओं के लिए और भी घातक हो सकता है जिनके अंदर ज़्यादा एमिनिओटिक द्रव या जिनके अंदर एक से ज़्यादा बच्चे हैं। सूजन गर्मियों में और भी बुरी हो जाती है।

बच्चे के पैदा होने के बाद सूजन अपने आप ही चली जाती है क्योंकि आपमें से फालतू का द्रव चला जाता है। बच्चे को जन्म देने के बाद आप नोटिस कर सकती हैं की आप काफी बार पेशाब करने जा रही हैं, या आपको काफी पसीना आ रहा है।

प्रेगनेंसी में सूजन कब खतरनाक हो जाती है?

नॉर्मल तरीके से सूजन का आना काफी नॉर्मल है, लेकिन अपने डॉक्टर को प्रीक्लेम्सिया के किसी भी लक्षण होने पर कॉल करें:

चेहरे का सूजना

आँखों के आस-पास सूजन

हाथ में कुछ ज़्यादा ही सूजन होना

आपके पाँव या एडी में एक दम से कुछ ज़्यादा ही सूजन होना

अगर आपका एक पाँव दूसरे से कुछ ज़्यादा ही सूजा हुआ है तो आपको अपने डॉक्टर को तुरंत कॉल करना चाहिए, यदि आपको पाँव में दर्द हो या कहीं खून का थक्का बन गया हो तो भी अपने डॉक्टर से बात करें।