प्रेगनेंसी निखार- प्रेगनेंसी में त्वचा में बदलाव

प्रेगनेंसी में निखार आपके अंदर बढ़ रहे हार्मोन्स की वजह से होता है। ये निखार न सिर्फ आपके चेहरे पर होगा बल्कि ये आपके स्तन, पेट और अन्य जगह भी होगा। आपकी त्वचा इस समय आम समय से थोड़ा ज़्यादा सूखी हो सकती है, और थोड़ी संवेदनशील भी। ऐसा आपके शरीर में हो रहे बदलाव की वजह से होता है।

प्रेगनेंसी में ये निखार क्यों?

कई डॉक्टर के अनुसार प्रेगनेंसी में हो रहे बदलाव की वजह से आपकी त्वचा पर ये निखार आता है। इस समय आपके शरीर में काफी हार्मोनल बदलाव होते हैं, इस वजह से आपके शरीर में काफी ऑइल बनता है, और त्वचा चमकती है।

दूसरा कारण है खून का संचार तेज़ी से होना। प्रेगनेंसी में आपके शरीर में खून का संचार 50 प्रतिशत तक बढ़ जाता है। इस बढ़े खून संचार की वजह से आपकी त्वचा काफी उजली हो जाती है।

हालांकि इस निखार के अलावा आपकी त्वचा में ये बदलाव हो सकते हैं:

दर्द: प्रेगनेंसी हार्मोन्स से आपकी त्वचा काफी तेल वाली हो जाती है जिससे आपको मुहासे आ सकते हैं।

गाढ़ी त्वचा: हार्मोन्स की वजह से आपकी त्वचा के कुछ खास हिस्से गाढ़े हो जाते हैं। आप एक लाइन अपनी नाभि के ऊपर और नीचे देख सकती हैं, इसे लिनिया निगरा कहते हैं। आपके निपल अभी गाढ़े हो सकते हैं। यदि कोई तिल हैं तो वो भी गाढ़े हो सकते हैं।

खिंचाव के निशान: खिंचाव के निशान तब पड़ते हैं जब आपकी त्वचा आपके बढ़ते हुए वज़न के अनुसार फैल नहीं पाती। इसलिए आपकी त्वचा थोड़ी सी हल्के रंग की हो जाती है।

याद रखें की आप कुछ दिनों में माँ बनने वाली हैं और उस भावना के आगे सभी भावना छोटी हैं, जैसे ही आप अपने बच्चे को पकड़ेंगी, वैसे ही आप सभी दिक्कत भूल जाएंगी। सभी महिलाएं इस बारे में बात करती हैं की उन्हें प्रेगनेंसी में जितनी भी दिक्कत हुई हो लेकिन एक बार बच्चे के आने के बाद उनकी सभी शिकायत दूर हो जाती है। यदि आपको अभी हो रहे बदलाव से दिक्कत हो रही है, तो चिंता न करें, सबकुछ वक़्त के साथ चला जाएगा। यदि फिर भी आपको कोई दिक्कत सताती है तो आप अपने डॉक्टर से बात कर सकती हैं। इस समय सभी डॉक्टर आपको धैर्य रखने की सलाह देंगे, आप अपने आपको थोड़ी बुरी लग सकती हैं, लेकिन यकीन मानिए आप इस समय काफी सुंदर लग रही हैं। बच्चे को इस दुनिया में लाने का अनुभव आपको सभी दर्द भुला देगा। प्रेगनेंसी में कोई भी चीज़ स्थायी नहीं होती और ये सभी दिक्कत भी अपने आप चली जाएंगी। आपको बस अपनी प्रेगनेंसी में ध्यान देना है की आप अपने बढ़ते हुए बच्चे का खयाल कैसे रख सकती हैं।