वीडियो: क्या चेहरे पर त्वचा का रंग बिगड़ गया है? प्रेगनेंसी इसकी वजह हो सकती है?

 

चिंता मत कीजिए; प्रेगनेंसी में त्वचा का रंग बिगड़ना एक आम बात है, इसको मास्क ऑफ प्रेगनेंसी कहते हैं।

जिन महिलाओं का रंग थोड़ा सांवला होता है उन्हे इसका होने का ज़्यादा खतरा रहता है, और वहीं साफ रंग वाली महिलाओं को इसके होने की संभावना कम है। अगर आपके परिवार में यह किसी को हुआ है तो आपको मास्क ऑफ प्रेगनेंसी होने के ज़्यादा चान्स हैं। प्रेगनेंसी के समय इसके असर और ज़्यादा होने शुरू हो जाते हैं।

दाग होंठ के ऊपर, नाक, गाल की हड्डी और माथे पर दिखाई देते हैं, कभी-कभी यह नकाब की तरह दिखाई देते हैं। ये जबड़े के साथ गाल पर भी दिखाई दे सकते हैं। ऐसा होने की संभावना भी है की प्रेगनेंट महिला को बाजू और सूरज के संपर्क में आने वाले शरीर के अंगों में काले धब्बे दिखा दें।

इससे भी अजीब बात यह है की त्वचा पहले ही रंगभरी दिखाई देती है- प्रेगनेंसी के दौरान निपल, निशान, और गुप्तांगों की त्वचा और काली हो जाती है। ऐसा उन्ही जगह होता है जहां घर्षण होता है जैसे बगल और अंदर की जांघ।

ये बदलाव शायद हार्मोन के बढ़ने की वजह से होते होता है, जिससे आपके शरीर के मिलेनिन(एक ऐसी चीज़ जो आपके बालों, त्वचा और आँख को रंग देता है) पर क्षणिक असर पड़ता है और उनका उत्पादन बढ़ता है। धूप में निकलने से भी फर्क पड़ता है।

ज़्यादा रंग पाने वाले एरिया बच्चा पैदा करने के कुछ महीनों बाद अपने बाद गायब हो जाए और आपकी त्वचा पहले जैसी नॉर्मल हो जानी चाहिए, हालांकि कुछ केस में यह बदलाव कभी भी पूरी तरह से नहीं जाते हैं।

क्या प्रेगनेंसी के दौरान त्वचा के रंग बिगड़ने से बचा जा सकता है?

हालांकि डिलिवरी के बाद यह अपने आप ही चला जाता है, लेकिन कुछ सुविधा बरतकर आप इसके असर को कम से कम कर सकते हैं:

अपने आप को सूरज से बचाएं

यह काफी अहम है क्योंकि अल्ट्रावाइलेट किरणों के संपर्क में आने से रंग का डार्क होना बढ़ता है। चाहे मौसम कैसा भी पर आपको एक ब्रॉड-स्पेक्ट्रम फॉर्मूला का इस्तेमाल करना है, जिसमें 30 या ज़्यादा SPF हो जिससे आपकी UVA और UVB से बचाव होगा। अगर बाहर हैं तो दिन में फिर से संसक्रीन को लगाइए।

बल्कि धूप से बचाव के लिए कुछ भी शरीर पर लगाने को अपनी सुबह का हिस्सा बना लीजिए, तब भी अगर आप बाहर ज़्यादा नहीं रुक रही हों। द अमेरिकन एकेडमी ऑफ डर्माटोलजी के अनुसार जब आप खिड़की के पास बैठे होते हैं, या जब अब चलते हैं, या जब आप कर में होते हैं तो आपकी त्वचा UV किरणों की अच्छी मात्रा के संपर्क में रहती है।

अगर आपको पिग्मेंटेशन से बदलाव हुआ है तो बाहर होने पर आप लंबे बाजू की शर्ट पहनिए। धूप में ज़्यादा मत रहिए। खासकर सुबह 10 से दिन के 2 बजे तक।

एक अच्छे क्लींज़र और चेहरे की क्रीम का इस्तेमाल करें

किसी भी चिड़चिड़ाहट से बचने के लिए इन क्रीम की अच्छे से जांच कर लें।

ढकने वाले मेकअप का इस्तेमाल करें

अगर पिग्मेंटेशन से आपको परेशानी है तो उन्हे मेकअप से ढक दें। प्रेगनेंसी के दौरान त्वचा को ब्लीच करने वाले प्रॉडक्ट का इस्तेमाल ना करें।

क्या त्वचा में यह बदलाव किसी बीमारी के संकेत हो सकते हैं?

कुछ निश्चित प्रकार की त्वचा का बिगड़ना स्किन कैंसर अन्य मेडिकल प्रोब्लेम हो सकती हैं। हालांकि प्रेगनेंसी में होने वाले चेंज ज़्यादातर सौम्य होते हैं, पर आपको उनके बारे में हमेशा अपने डॉक्टर से बात करनी चाहिए। उन्हे इस बात की जानकारी भी दें की त्वचा का रंग दर्द, लालिमा, या खून बहने के साथ बदल रहा है या नहीं, या फिर आप तिल के कलर, आकार में बदला देखें तो डॉक्टर को ज़रूर बताएं। आपका डॉक्टर आपको त्वचा के डॉक्टर के पास जाने की सलाह दे सकता है, जो आपको इसकी वजह बताने में सक्षम होगा।