11 हफ्तों में आपका शरीर

अब आप 11 हफ्तों की गर्भवती हैं, या कह सकते हैं की आपका 12वां हफ्ता शुरू हो गया है।

आपके बच्चे का विकास

अब आपका बच्चा पूरी तरह से बन गया है, उसके नाखून से लेकर दाँत के ढांचे विकसित हो रहे हैं, उसका आकार अंजीर की तरह है। बच्चे की कुछ हड्डियाँ अब सख्त हो रही हैं। आने वाले छह महीनो में बच्चे का केवल एक ही काम होगा और वो है मजबूत होते रहना।

आपके जीवन पर असर

प्रेगनेंसी में कई नई चीज़ें होती हैं, कुछ अच्छी और कुछ ज़्यादा अच्छी नहीं। पहली बार माँ बनने जा रही एक तिहाई महिलाओं को तनाव की समस्या होती है। आप हस्ते या छींख के समय पेशाब लीक कर सकती हैं। ऐसा होना कोई बड़ी बात नहीं है।

प्रेगनेंसी के तुरंत बाद आपका पेल्विक फ्लोर मसल और ऊतक फैलने शुरू हो जाते हैं। प्रोजेस्ट्रोन के बढ्ने की वजह से आपकी कुछ मासपेशियाँ ढीली हो जाती हैं। आम तौर पर आपकी पेशाब की मासपेशियाँ आपकी पेशाब को रोकने में सफल जो जाती हैं, लेकिन प्रेगनेंसी में यह थोड़ी ढीली हो जाती हैं, इसकी वजह से बार-बार पेशाब जाना पड़ता है।

पेल्विक फ्लोर एक्सर्साइज़ करने से आपकी पेशाब की मासपेशियाँ सख्त होती हैं। इस समय डॉक्टर आपको फॉलिक एसिड सप्लिमेंट लेने से रोक देंगे, क्योंकि आपके बच्चे के दिमाग तंत्र का विकास इस हफ्ते के अंत तक हो गया होगा।

प्रसव पूर्व टेस्ट्स

कभी-कभी आने वाले दो हफ्तों में आपको स्कैन के लिए कहा जाएगा। स्कैन में सही से पता चलता है की आप कितने हफ्तों की गर्भवती हैं और बच्चा कब होगा। स्कैन में जब बच्चे की धड़कन सुनाई देती है तो सबका दिल खुश हो जाता है। धड़कन सुनते ही डॉक्टर उसे अपने रिकॉर्ड में लिख देती है, इसे फेटल हार्ट हर्ड कहते हैं। मतलब बच्चे की धड़कन सही हैं।